Thursday, 22nd June, 2017
चलते चलते

अमित शाह ने देखा एक बुरा सपना, राहुल गांधी साथ बैठे हैं बीजेपी की रैली में

15, Feb 2017 By Ritesh Sinha

लखनऊ. सूत्रों से पता चला है कि कल रात अमित शाह को बहुत ही बुरा सपना आया था। अमित शाह ने सपने में देखा कि- “वो एक बड़ी रैली में राहुल गाँधी के साथ एक ही मंच पर बैठे हुए हैं। इस रैली में राहुल बाबा भाजपा के पक्ष में प्रचार करने आए थे। जब राहुल गाँधी रैली को संबोधित करने उठे तो लोग उठकर वहां से जाने लगे। यह देखकर राहुल गाँधी ने रैली छोड़कर जा रहे लोगों से कहा- ‘अरे..रूक जाओ भैया! मैं तो भाजपा के लिए वोट मांगने आया हूँ। पूरा सुनके जाओ!’ लेकिन राहुल गाँधी के इस अपील का कुछ असर नहीं होता और लोग अपनी कुर्सी छोंड़कर भागने लगते हैं।”

सपने के बारे में सोचते मोदी और शाह
सपने के बारे में सोचते मोदी और शाह

इतना भयावह सपना देखते-देखते अमित शाह नींद में ही बड़बड़ाने लगे-“राहुल बाबा…नहीं..नहीं, आप कांग्रेस में ही रहकर हमारा प्रचार कीजिए!” -कहते हुए अमित शाह की नींद खुल गई। उन्होंने तुरंत प्रधानमंत्री मोदी को फोन लगाया और हकलाते हुए बोले- “मोदी जी! आज रात मैंने बहुत ही भयानक सपना देखा। सपने में राहुल बाबा कांग्रेस पार्टी के बजाय हमारी पार्टी के लिए वोट मांग रहे थे। अगर ये सपना सच हो गया तो हमें हार से कोई नहीं बचा सकता।”

इतना सुनते ही मोदी जी भी चौंक गए। फिर अपने आप को सम्भालते हुए बोले-“अमित भाई! ऐसा कभी नहीं होगा क्योंकि सपने तो सपने होते हैं। और हम राहुल बाबा को अपनी पार्टी में क्यों शामिल करेंगे? जब-जब वो कांग्रेस पार्टी के लिए प्रचार करते हैं, हमारा ही फायदा होता है। इसलिए स्वप्न से बाहर आइए और हकीकत को देखिए।”

“लेकिन मोदी जी.. मैंने सपने में देखा कि वो भाजपा के लिए वोट मांग रहे हैं, ऐसे में हमें कौन वोट देगा।” इतना सुनते ही मोदी जी भड़क गए और बोले-“अमित भाई! एक ही बात मुझे बार-बार मत सुनाओ! सुबह-सुबह चैन से नहाने भी नहीं देते हो। मैंने कहा ना राहुल बाबा कांग्रेस पार्टी में ही हैं, और अपनी पार्टी का प्रचार कर रहे हैं। अब फोन रखो!” कहते हुए मोदी जी ने फोन रख दिया।

वहीँ, एक अन्य खबर में भाजपा के कई प्रत्याशी अपने इलाके में राहुल गाँधी की रैली करवाने की साजिश रच रहे हैं। भाजपा के एक प्रत्याशी ने बताया कि “इस चुनाव प्रचार में तो हालत खराब हो गई है। दिन भर गाँव-गाँव जाकर वोट माँगना पड़ रहा है। एक बार राहुल जी इस इलाके में आ जाते तो मेरा काम भी आसान हो जाता। जो खर्चा होगा मैं कर दूंगा, एक बार आएँ तो सही।”



ऐसी अन्य ख़बरें