Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

अब मायावती के साथ मिलकर अखिलेश बनाएंगे नयी पार्टी- 'दलिया पार्टी'

01, Jan 2017 By FUN कार

लखनऊ. शुक्रवार को समाजवादी पार्टी में हुई फूट के बाद पूरे देश की नज़रें मुलायम सिंह और अखिलेश के अगले दांव पर थीं। कांग्रेस हो या बीजेपी, सभी अपने अमर सिंह सरीखे जुगाड़बाज़ राजनेताओं के संपर्क में जोड़-तोड़ की राजनीति करने में व्यस्त थे। लेकिन सबको पछाड़ देते हुए अखिलेश ने कल रात ऐसी चाल चली कि सब दंग रह गये।

akhilesh-maya
अखिलेश-मायावती ने बनायी ‘दलिया’ पार्टी

अखिलेश ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती के साथ मिलकर नयी पार्टी बनाने का एलान कर दिया है। वैसे, इसका संकेत तभी मिल गया था, जब अखिलेश बार-बार अपने भाषणों में मायावती को बुआ और मायावती उन्हें बबुआ कह रही थीं। काफ़ी दिनों से मायावती के मन में अखिलेश के लिए सॉफ्ट कॉर्नर था और अखिलेश भी मायावती को दिल ही दिल में अपनी बुआ मानने लगे थे।

अब समाजवादी पार्टी में फूट पड़ते ही मायावती को मौका मिल गया और उन्होंने फ़ौरन ही अखिलेश के साथ मीटिंग फिक्स कर दी, जिसमें अखिलेश मायावती से मिलते ही गले लगकर रो पड़े और कहा- “बुआ, हमाये बापू पाटी के लिए हानिकारक निकले बुआ!” मायावती ने उन्हें समझाया कि “बबुआ, चिंता की कोई बात नहीं है, हम लोग मिलकर एक नयी पार्टी बनाएंगे।” पास ही बैठे समाजवादी पार्टी से पचास साल के लिये निष्कासित नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि “बात तो ठीक है पर पार्टी का नाम क्या रखेंगे?”

इस पर अखिलेश ने कहा कि “चाचा हमाई पाटी में यादव हैं औ बुआ की पाटी में दलित। तो हम ऐसा नाम रखेंगे कि दोनों का काम बन जाये।” मायावती ने कहा “हमने नाम सोच लिया है, दलित और यादव को मिला के पार्टी का नाम ‘दलिया’ रख देते है और चुनाव चिन्ह होगा साइकिल पर हाथी!” इसपर अखिलेश ने हामी भर दी, बुरा समय क्या न करवाये! उधर एक खोजी पत्रकार ने आजम खां को ढूँढ निकाला और उनसे समाजवादी पार्टी की फूट पर सवाल किया तो उन्होंने अपने ही अंदाज़ में जवाब दिया- “हमें तो अमर सिंह ने लूटा मोदी में कहा दम था, हमारी पार्टी वहाँ टूटी जहाँ नोटबंदी के कारण पहले से फण्ड कम था!”



ऐसी अन्य ख़बरें