Sunday, 20th August, 2017

चलते चलते

ज़ी न्यूज़ ने पाकिस्तान पर मिसाइल दाग़ी, बाल-बाल बचा हाफ़िज़ सईद

10, Oct 2015 By बगुला भगत

एलओसी/नोएडा. हिंदी के ख़ुफ़िया न्यूज़ चैनल ज़ी न्यूज़ के सब्र का बांध आख़िरकार टूट ही गया। चैनल ने कल रात अचानक पाकिस्तान पर मिसाइल से हमला कर दिया। आधी रात के बाद किये गये इस हमले में कई आतंकवादियों के मारे जाने की ख़बर है।

ज़ी न्यूज़ को अपने ख़ुफ़िया नेटवर्क की मदद से दो दिन पहले हाफ़िज़ सईद की लोकेशन पता चली थी। उसके लड़ाकू एंकर सुधीर चौधरी और रोहित सरदाना हथियारों से लैस होकर आधी रात को बॉर्डर पर पहुंचे और हाफ़िज़ को निशाना बनाकर मिसाइल दाग़ दी लेकिन वो हमले में बाल-बाल बच गया।

Hafiz Saeed
ज़ी-न्यूज़ के हमले से बचने के लिए अपने लिए दुआएं मांगता सईद

अपने न्यूज़ वॉर रूम में बैठकर हमले पर लगातार नज़र रख रहे ज़ी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा ने मेज पर मुक्का मारते हुए कहा, “शिट! वो तो बच ही गया! चलो कोई बात नहीं! मेरा सुधीर अगली बार नहीं छोड़ेगा!”

“आपको हमला करने की इतनी हड़बड़ी क्या थी? क्या आपको अपनी सरकार पर भरोसा नहीं था?” इसके जवाब में चंद्रा ने ताना मारते हुए कहा, “किस सरकार की बात कर रहे हो! उन्हें तो जुमले छोड़ने से ही फ़ुर्सत नहीं है। मिसाइल क्या ख़ाक छोड़ेंगे!”

इसके बाद चंद्रा जी ने हमारे रिपोर्टर को अपने चैनल के बेसमेंट में चल रहे ट्रेनिंग कैंप का दौरा कराया। उन्होंने बताया कि “यहां रात में हमारे एंकरों को हैंड ग्रेनेड फेंकना, मोर्टार दाग़ना और विस्फोटक बनाना सिखाया जाता है। इधर कोने में हम कुछ हल्के लड़ाकू विमान बना रहे हैं।” यह सब दिखने के बाद उन्होंने हमारे रिपोर्टर को एक सुरंग के रास्ते सड़क पर छुड़वा दिया।

इसके थोड़ी देर बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ज़ी न्यूज़ पहुंचे और उन्होंने सुभाष चंद्रा को इस हमले के लिये बधाई दी। राजनाथ ने कहा कि “चंद्रा जी भी डेढ़ साल से वो ही काम कर रहे हैं, जो हम कर रहे हैं। उन्होंने साबित कर दिया कि ज़ी न्यूज़ सिर्फ़ ‘भक्ति’ चैनल नहीं, ‘देशभक्ति’ चैनल भी है।”

इसके साथ ही उन्होंने यह एलान भी किया कि “हम सुधीर और रोहित को इस बहादुरी के लिये परमवीर चक्र देंगे और 26 जनवरी की परेड में उन्हें बहादुर बच्चों के साथ हाथी पर बिठाकर घुमायेंगे।”



ऐसी अन्य ख़बरें