Wednesday, 29th March, 2017
चलते चलते

बच्ची के रोने से मां-बाप बहरे हुए, जब गर्भ में थी तो मां अर्नब का 'News Hour' देखती थी

10, Aug 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. दिल्ली के संगम विहार इलाके में एक बच्ची के जोर-जोर से रोने के कारण उसके मम्मी पापा के बहरे होने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बच्ची का नाम मेघा है और उसकी आवाज अर्नब गोस्वामी के लेवल की बताई जा रही है। दरअसल एक दिन जब बच्ची के मम्मी पापा को लगा कि उन्हें कम सुनाई देने लगा है तो वो घबराकर अपने कान चेक करवाने अस्पताल जा पहुंचे। अस्पताल जाते वक़्त उन्होंने मेघा को भी अपने साथ ले लिया।

Arnab
मेघा के मां-बाप के बहरे होने की वजह

जब डॉक्टर पापा के कान चेक कर रहे थे, तो मेघा को अचानक पोटेटो चिप्स की याद आ गई और वो मम्मी से चिप्स खरीदने की जिद करने लगी। मम्मी ने उसे समझाया लेकिन उसने उनकी एक ना सुनी और रोना शुरु कर दिया। मेघा की तेज़ आवाज से पूरा क्लिनिक हिलने लगा, डॉक्टर ने डर के मारे नज़दीक के कमरे में शरण ले ली। सभी नर्स कान बंद करके फर्श पर लेट गईं। अन्य मरीज भी दुम दबाकर भाग खड़े हुए।

जब मेघा के पापा बगल की दुकान से चिप्स लेकर आए, तब कहीं जाकर वो चुप हुई। जैसे ही वो चुप हुई डॉक्टर साब घायल अवस्था में कमरे से बाहर निकले।डॉक्टर ने कमरे से निकलते ही कहा “यही है तुम लोगों के बहरे होनी की वजह! जल्दी से मेरी फ़ीस दो और यहाँ से चलते बनो। अगर इसने फिर से रोना शुरू कर दिया तो मैं भी बहरा हो जाऊंगा।” कहते हुए डॉक्टर धम्म से कुर्सी पर बैठ गए।

“मेघा की आवाज़ इतनी तेज़ कैसे हो गई?” ये पूछने पर उसकी मम्मी ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “जब मेघा गर्भ में थी तब मैं रोज़ रात को अर्नब का ‘News Hour’ देखा करती थी। उसे अपने गेस्ट पर चिल्लाता देख मैं बहोत खुश होती थी। मुझे क्या पता था कि अर्नब के चिल्लाने का असर मेरे होने वाले बच्चे पर पड़ जायेगा।” -कहकर वो कान में उंगली देकर सुबकने लगीं।

इस बीच पता चला है कि इससे पहले मेघा अपने दादाजी को भी बहरा कर चुकी है। बूढ़ा होने के कारण उनकी 50% श्रवण शक्ति तो पहले ही दम तोड़ चुकी थी, बची-खुची 50% मेघा के रोने की भेंट चढ़ गयी।



ऐसी अन्य ख़बरें