Friday, 24th March, 2017
चलते चलते

ओपीनियन पोल्स की बारिश से देश में बाढ़ का ख़तरा, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

06, Jan 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. कुछ दिन पहले हमने आपको खबर दी थी कि इस बार यूपी के चुनाव में पान वाले और ऑटो वाले ओपीनियन पोल वालों से पैसा वसूलने की तैयारी कर रहे हैं। अब एक और बड़ी ख़बर आ गयी है। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर कहा है कि अगले कुछ दिनों में यूपी में ओपीनियन पोल की भारी बारिश हो सकती है, जिससे बाढ़ आने का ख़तरा है। यूपी के पड़ोसी राज्यों में भी गरज़ के साथ पोल्स के छींटे पड़ सकते हैं।

Opinion Poll
टीवी पर पोल की बाढ़ का एक ख़ौफ़नाक मंज़र

मौसम विभाग का कहना है कि भारत के पांच राज्यों में चुनाव का ऐलान होते ही दिल्ली की तरफ़ से आने वाली गरम हवाओं की वजह से इन राज्यों में ज्यादा दबाव का क्षेत्र बन गया है। ऐसे हालात में ओपीनियन पोल की बरसात होने लगती है, जिनसे लोगों को बचकर रहना चाहिए।

मौसम विभाग के डीजी लक्ष्मण राठौर ने इस ख़तरे के बारे में फेकिंग न्यूज़ को बताया कि “देखिए! हमें सूचना मिली है कि सभी न्यूज़ चैनल बड़ी मात्रा में ओपीनियन पोल करने वाले हैं। इसलिए हमने नागरिको को सावधानी बरतने की सलाह दी है। जब आसमान में काले बादल छा जाएं तो समझ लेना चाहिए कि बरसात होने वाली है। उसी तरह जब नसीम ज़ैदी प्रेस कांफ्रेंस करें तो जान लीजिए कि ओपीनियन पोल्स के बादल छाने वाले हैं। ये हर चुनाव से पहले ‘टपक’ पड़ते हैं और टीवी पर ‘छा’ जाते हैं।” -अपना मुंह पिचकाते हुए राठौर जी ने कहा।

“तो इन ओपीनियन पोल्स के कहर से बचने के लिए क्या करना चाहिए?” यह सवाल पूछे जाने पर DG साब ने बताया कि “इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि चुनाव के दिनों में न्यूज़ चैनलों से दूर रहा जाये। साथ ही, अगर बाज़ार या सड़क पर कोई आपके मुंह में जबरन माइक टिका दे तो वहां से “ऐ चल ना!” कहते हुए सरक जाना चाहिये। और हो सके तो कुछ दिनों के लिये पान खाना छोड़ देना चाहिये।”

उधर, हर बार गलत साबित होने के बावजूद न्यूज़ चैनलों ने फिर से ओपीनियन पोल करने की तैयारी शुरू कर दी है। पत्रकारों के एक दल को उत्तर प्रदेश रवाना करते हुए एक चैनल के एडिटर ने बताया कि- “हमारे चैनल के सर्वे में ये पता चल जाएगा कि यूपी में हवा किस ओर बह रही है।” “लेकिन आपने तो पिछली बार भी ऐसा ही कहा था, फिर भी..” “इतना सुनते ही एडिटर साब सकपका गये और ‘पोल’ खुलने के डर से वहां से चलते बने।



ऐसी अन्य ख़बरें