Monday, 27th March, 2017
चलते चलते

'नाट्य रूपांतरण' नहीं जानता था जर्नलिस्ट, न्यूज़ चैनल ने नौकरी से निकाला

09, Sep 2016 By बगुला भगत

नोएडा. देश के एक जाने-माने हिन्दी न्यूज़ चैनल ने अपने एक पत्रकार को इसलिये नौकरी से निकाल दिया क्योंकि वो यह नहीं जानता था कि ‘न्यूज़ का नाट्य रूपांतरण’ कैसे किया जाता है। कुमार राजेश रंजन सिंह नाम के इस पत्रकार को कल शाम चैनल के सीईओ-कम-मैनेजिंग एडिटर ने टर्मिनेशन लेटर थमा दिया।

News Chanel
सनसनी में प्रेमिका की हत्या का नाट्य रूपांतरण

‘इंडिया टीटीवी’ न्यूज़ चैनल के सीईओ-कम-मुख्य एंकर राजन शर्मा ने कल शाम उसे अपने केबिन में बुलाकर कहा- “सारिका ने राजेश की मोहब्बत में पड़कर अपने पति मनोज के साथ बेवफ़ाई की’, इसे लिखने में मज़ा आयेगा क्या? इसे तो स्क्रीन पर करके दिखाना पड़ेगा कि बेवफ़ाई कैसे-कैसे की! नाट्य रूपांतरण करना पड़ेगा!”

“लेकिन सर, नाट्य रूपांतरण का क्या…”, रंजन इतना ही कह पाया था कि शर्मा जी बीच में ही चिल्ला उठे- “मुझे न्यूज़ सिखाओगे तुम! नाट्य रूपांतरण जानते नहीं और चले हैं जर्नलिस्ट बनने! निकल जाओ यहां से!”

“बलात्कार, अवैध संबंध और मर्डर की न्यूज़ को सिर्फ़ लिखकर बतायेंगे साहब!” पीछे से शर्मा जी के बड़बड़ाने की आवाज़ आयी।

राजेश रंजन के साथ काम करने वाले तुषार ने बताया कि “न्यूज़ वगैरह तो वो ठीक लिख लेता था पर आज के हिसाब से अपटूडेट नहीं था।” फिर वो हमारे संवाददाता को रंजन से मिलाने उसके कमरे पर ले गया।

जहां रंजन ने सुबकते हुए बताया कि “हम तो न्यूज़ लिखना, पैकेज बनाना, इंटरव्यू करना –ये सब सीखकर आये थे। जर्नलिज्म के पूरे कोर्स में नाट्य रूपांतरण के बारे में तो हमें एक बार भी नहीं बताये थे।” हमारे संवाददाता ने उसे चुप कराया और पूछा- “सच्ची ख़बरें लिख लेते हो?” तो उसने ‘हां’ में सर हिलाते हुए कहा- “लिख तो हम कुछ भी सकते हैं, बस करके नहीं दिखा सकते!”, “तो फिर आओ मेरे साथ!” -कहकर हमारा संवाददाता उसे फ़ेकिंग न्यूज़ के ऑफ़िस में ले आया।



ऐसी अन्य ख़बरें