Tuesday, 24th October, 2017

चलते चलते

'सेल' का पता नहीं चला तो युवक ने कर दिया 'टाइम्स ऑफ़ इंडिया' पर केस

17, Sep 2017 By बगुला भगत

मुंबई. मायानगरी में रहने वाले एक युवक ने ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ अख़बार पर केस कर दिया है। इस युवक का आरोप है कि उसके घर में टाइम्स ऑफ़ इंडिया आने के बावजूद उसे एक ‘सेल’ के बारे में पता नहीं चल पाया और वो ‘मोबाइल कवर’ पर मिल रही छूट का लाभ नहीं उठा पाया, जिससे उसे काफ़ी बड़ा नुकसान हो गया। इस नुकसान के बदले में उसने अख़बार से दो करोड़ का हर्ज़ाना मांगा है।

TOI Sale
‘सेल ही सेल’- एक बार TOI देख तो लें!

अंधेरी इलाक़े में रहने वाले मिलिंद मोहिले नामक इस युवक का ग़ुस्सा केस करने के बाद भी शांत नहीं हुआ है। उसने ग़ुस्से में भड़कते हुए कहा कि “आख़िर कोई बंदा टाइम्स ऑफ़ इंडिया लेता ही क्यूँ है! अचार डालने के लिये? अगर हमें किसी सेल के बारे में भी पता ना चल पाये तो फिर इस पेपर को लेने का फ़ायदा ही क्या है!”

मिलिंद ने सबूत के तौर पर TOI की सैंकड़ों कॉपियाँ कोर्ट में जमा कराई हैं, जिनमें सेल ही सेल भरी पड़ी हैं लेकिन वो सेल कहीं नहीं छपी, जो चार दिन पहले ‘अमेजिंग’ पर लगी थी। केस के काग़ज़ात दिखाते हुए उसने कहा कि “अमेजिंग की इस सेल का पता ना चलने की वजह से मुझे जो आर्थिक और मानसिक परेशानी हुई है, न्यूज़पेपर को उसकी क्षतिपूर्ति करनी ही होगी।”

उधर, अख़बार ने इस मुकदमे पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। TOI के एडिटर-इन-चीफ़ जगदीप बोस ने फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत में कहा कि “हम इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहेंगे। इसका जवाब हम कोर्ट में ही देंगे। टीओआई में जगह नहीं बची थी, इसलिये इस सेल की ‘न्यूज़’ हमने अपने दूसरे एडपेपर न्यूज़पेपर ‘मुंबई मिरर’ में छाप दी थी, उसने वो पेपर क्यों नहीं देखा?”



ऐसी अन्य ख़बरें