Sunday, 19th November, 2017

चलते चलते

मुंबई के बाद बिहार की बाढ़ की भी 'लाइव रिपोर्टिंग' करेंगे अर्नब, रिपब्लिक टीवी में हाय-तौबा मची

30, Aug 2017 By बगुला भगत

मुंबई. ‘रिपब्लिक टीवी’ के मुखिया अर्नब गोस्वामी ने कल मुंबई की बारिश में भीगकर लाइव रिपोर्टिंग करके एक नया रिकॉर्ड बना दिया। अर्नब बिना छाता और रेनकोट के अपने ऑफ़िस से बाहर निकले और भीगते हुए सामने की सड़क पर लगे ट्रैफ़िक जाम के बारे में बताने लगे और पूरे चार मिनट तक बताते रहे, बिना झुके, बिना डरे!

Arnab- Mumbai Rain
बिना छाते के रिपोर्टिंग करते अर्नब गोस्वामी

अर्नब को ‘लाइव’ भीगता देख दर्शक वाह-वाह कर उठे। उन्हें घर बैठे-बैठे ही बारिश की भयंकरता का अहसास होने लगा। कुछ दर्शकों ने तो थोड़ी देर तक दाँतों तले उंगली भी दबाये रखी। हालांकि, कुछ चिड़चिड़े लोग अर्नब के इस साहसिक कारनामे पर भी उनकी आलोचना कर रहे हैं।

वे कह रहे हैं कि अगर अर्नब को आम आदमी की तकलीफ़ ही महसूस करनी थी तो फिर भीगते समय अपना पर्स और मोबाइल भी अपनी जेब में ही रखना था, वे ऑफ़िस में क्यों छोड़े? तब उन्हें पता चलता कि पर्स और मोबाइल भीगने पर आम आदमी की हालत कैसी होती है। और फिर कई घंटों तक उन्हीं भीगे हुए कपड़ों में रहना था, तब होती असली आम आदमी वाली फ़ीलिंग!

ख़ैर, चिढ़ने वाले लोग कुछ भी कहें लेकिन अर्नब अब सिर्फ़ मुंबई तक ही नहीं रुकने वाले! उन्होंने एलान किया है कि “मुंबई के बाद अब मुझे बिहार के लोगों के दुख-दर्द को भी महसूस करना है। कोई बता रहा था कि वहाँ कई महीनों से बाढ़ आयी हुई है। इसलिये अब मैं वहाँ जाकर भी लाइव रिपोर्टिंग करुंगा।”

उनके इस एलान के बाद रिपब्लिक टीवी में मातम पसर गया है। चैनल के कई सीनियर उन्हें बिहार जाने से रोकने में जुट गये हैं। वे अर्नब को समझा रहे हैं कि ऑफ़िस के बाहर सड़क पे जाकर भीगने में और बिहार जाकर बाढ़ में फंसने में ज़मीन-आसमान का अंतर है। कुछ भी उल्टा-सीधा हो सकता है। और आपके पीछे ये चैनल कैसे चलेगा।

कुछ ‘सयाने’ सीनियर समझा रहे हैं कि “अगर जाना ही है तो पटना से ही लाइव कर देना, अररिया या सीतामढ़ी जाने की ज़रूरत नहीं है। हमने कई बार ऐसा किया है!” अब देखना है कि अर्नब बिहार की बाढ़ देखने की ज़िद पर अड़े रहते हैं या कलीग्स की बात मानकर लोअर परेल में ही रुक जाते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें