Wednesday, 13th December, 2017

चलते चलते

योग दिवस पर उत्साहित युवक ने बिना सीखे किया योग, फँस गया अपनी ही टांगों के बीच

21, Jun 2017 By Guest Patrakar

कानपुर. ‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ पर योग करने की वजह से एक युवक की जान पर आफ़त बन आयी। प्रधानमंत्री मोदी की योग करने की अपील सुनकर कानपुर निवासी योगेन्द्र नाम का यह युवक भी जोश में आ गया और बिना सीखे ही योगासन करने लगा, इसी चक्कर में यह भयंकर हादसा हो गया।

Yoga1
अपनी टाँगों के बीच फँसा योगेन्द्र

प्राप्त जानकारी के अनुसार, चौबीस वर्षीय योगेन्द्र भीड़ के साथ योगासन कर रहा था, तभी वहाँ कुछ न्यूज़ चैनल वाले पहुंच गये। योगेन्द्र टीवी पर दिखने के लालच में आ गया और एक ऐसा अजीबो-ग़रीब आसन कर बैठा, जिसकी वजह से वो अपनी ही टाँगों में उलझ गया। लोगों ने फौरन उसे उठाकर पास के हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने घंटों की मशक़्क़त के बाद उसे सुलझाया।

उसे सुलझाने वाले डॉक्टर अट्टापट्टू का कहना है कि “वो काफ़ी बुरी तरह से उलझ गया था, जिसे सुलझाने में हमें ईयरफ़ोन्स के तारों को सुलझाने से भी ज़्यादा टाइम लग गया।” डॉक्टर अट्टापट्टू ने लोगों को सलाह देते हुए कहा है कि “योगा करने से पहले प्रशिक्षण ज़रूर लेना चाहिये, नहीं तो यह आपको भारी मुसीबत में डाल सकता है।”

फ़ेकिंग न्यूज़ के रिपोर्टर ने बिस्तर पर लेटे योगेन्द्र से बात की, जिससे पता चला कि उसने कभी भी योग की कोई ट्रेनिंग नहीं ली, सिर्फ़ यू-ट्यूब पर कुछ आसन देखे थे। योगेन्द्र ने हॉस्पिटल के खर्च को रिफ़ण्ड करने के लिये वोडाफ़ोन को चिट्ठी लिखी है। उसका कहना है कि यू-ट्यूब से आसन सीखते समय उसका इंटरनेट बंद हो गया था, जिससे वो आसन पूर्ण रूप से नहीं सीख पाया।

इसमें कोई संदेह नहीं कि योग बहुत लाभदायक चीज़ है लेकिन योगेन्द्र की दर्दभरी कहानी से इस पर कुछ सवाल भी खड़े होते हैं। क्या योग दिवस सिर्फ़ एक शो है? क्या डिजिटल इंडिया महज़ एक दिखावा है?



ऐसी अन्य ख़बरें