Wednesday, 23rd August, 2017

चलते चलते

सूर्य नमस्कार करते हुए कल जुम्मे की नमाज़ पढ़ेंगे योगी जी, विरोधियों को दिया मुंहतोड़ जवाब

30, Mar 2017 By बगुला भगत

लखनऊ. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल जब नमाज़ को सूर्य नमस्कार जैसा बताया, तो उस पर बवाल हो गया। योगी जी के इस बयान के बाद कुछ मुस्लिम कट्टरपंथी नाराज़ हो गये और उन्होंने इस बयान को हिंदू और इस्लाम धर्म को तोड़ने वाला क़रार दे दिया।

yogi1
सूर्य नमस्कार करते योगी आदित्यनाथ

ऐसे कट्टरपंथियों को मुंह तोड़ जवाब देने के लिये योगी जी ने फ़ैसला किया है कि वो कल हज़रतगंज की मस्जिद में जुम्मे की नमाज़ अदा करेंगे और साबित करेंगे कि सूर्य नमस्कार से वो कितनी मिलती-जुलती है। विधानसभा में यह एलान करते हुए उन्होंने कहा कि “जब नमाज और सूर्य नमस्कार दोनों एक जैसे हैं तो फिर मुझे नमाज पढ़ने में क्या प्रॉब्लम हो सकती है। नमाज पढ़ते हुए मुझे यही लगेगा कि जैसे मैं सूर्य नमस्कार कर रहा हूं। वैसे भी वो एक तरह का प्राणायाम ही तो है।”

इसके बाद उन्होंने सदन में ही कुछ आसन करके दिखाये, जिन्हें देखकर वाक़ई यह अंदाज़ा लगाना मुश्किल था कि वो नमाज़ पढ़ रहे हैं या सूर्य नमस्कार कर रहे हैं।

इसे योगी जी का एतिहासिक क़दम बताया जा रहा है। जो लोग शंका जता रहे थे कि योगी के सीएम बनने के बाद मुसलमानों पर अत्याचार बढ़ जाएंगे, अब उन सब लोगों के मुंह पर ताला लग गया है। मुस्लिम धर्मगुरु क़मर इलियासी का कहना है कि “मोदी जी तो सिर्फ़ सबका साथ, सबका विकास की बातें ही करते हैं लेकिन योगी जी सचमुच ऐसा करके दिखा रहे हैं।”

इस एतिहासिक घटना को देखने के लिये कल हज़रतगंज में भारी भीड़ उमड़ने की आशंका है इसलिये इलाक़े में सुरक्षा के व्यापक इंतज़ाम किये जा रहे हैं। पूरे इलाक़े को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

अभी-अभी ख़बर मिली है कि योगी जी ने एक और विवादास्पद बयान दे दिया है। उन्होंने कहा कि “मुसलमान की बकरी और हिंदू की गाय एक जैसी लगती हैं क्योंकि बकरी के भी चार पैर होते हैं और गाय के भी। बकरी भी दूध देती है और गाय भी। बकरी भी बच्चे पैदा करती है और गाय भी।” हालांकि अभी इस बयान की अभी पुष्टि नहीं हो पायी है।



ऐसी अन्य ख़बरें