Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

ताजमहल को देख भावुक हुए मुख्यमंत्री योगी, बोले- "काश! मैंने भी प्यार किया होता"

26, Oct 2017 By बगुला भगत

आगरा. आज सुबह ताजमहल पर झाड़ू लगाने पहुँचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उसकी ख़ूबसूरती देखकर भावुक हो गये। प्यार की इस निशानी को देख उनकी आँखें छलछला गईं। मौक़े पर मौजूद लोगों ने उन्हें मुँह छुपाकर अपनी आँखें पोंछते हुए देखा।

yogi-adityanath-taj3
ताजमहल को प्रणाम करते मुख्यमंत्री योगी

वो इतने भावुक हो गये कि एक बार झाड़ू लगाने से भी उनका दिल नहीं भरा। लोगों के लाख मना करने के बावजूद वो दोबारा झाड़ू लगाने लगे। वो झाड़ू लगाते जाते थे और आँसू पोंछते जाते थे।

झाड़ू-प्रोग्राम के बाद जब उनसे पूछा गया कि “आपके विधायक संगीत सोम तो ताजमहल को धब्बा बता रहे हैं और आप यहाँ पे झाड़ू लगा रहे हैं, ऐसा क्यों?” इस पर योगी जी ने कहा कि “अगली बार मैं संगीत सोम को भी साथ लेकर आऊँगा और उससे कहूँगा कि यार, एक बार चल के देख तो ले! क्या कमाल की जगह है!”

“और अगर वो फिर भी ताजमहल के बारे में कुछ उल्टा-सीधा बोलेगा तो मैं उसे प्यार से समझाऊँगा कि नफ़रत नहीं करते बेटा, प्यार करते हैं प्यार!” -यह कहकर वो तीसरी बार झाड़ू लगाने लगे।

लेकिन योगी जी के इस ‘ताज-प्रेम’ से बीजेपी के कई नेता बुरी तरह से भड़क गये हैं, ख़ास तौर से संगीत सोम! सोम का कहना है कि “योगी ने उस गंदी इमारत पे झाड़ू लगा के देश के हिंदुओं के साथ गद्दारी की है। इसके लिये हिंदु समाज उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगा!”

तो वहीं, बीजेपी के सांसद विनय कटियार ने हँसते हुए कहा कि “आप योगी जी को जानते नहीं हो! वो पूरे गुरु आदमी हैं। उन्होंने ताजमहल को ताजमहल समझ के झाड़ू नहीं, बल्कि शिव मंदिर समझ के झाड़ू लगाई है। ये झाड़ू-वाड़ू तो सिर्फ़ एक ड्रामा था, असल में वो वहाँ पे शिव-पार्वती की फ़ोटो रखने गये थे!”



ऐसी अन्य ख़बरें