Tuesday, 12th December, 2017

चलते चलते

मुख्यमंत्री योगी से हुई भयंकर चूक, मंदिर समझकर कर दी 'विद्या मंदिर' स्कूल की परिक्रमा

25, Oct 2017 By बगुला भगत

इलाहाबाद. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पद संभालने के बाद से लगातार मंदिरों की यात्रा कर रहे हैं और पूजा-अर्चना करते घूम रहे हैं। इसी चक्कर में कल शाम वो अचानक माखनगंज के एक ‘विद्या मंदिर’ नामक स्कूल में पहुँच गये और मंदिर समझकर उसी की परिक्रमा कर डाली। इस भयानक चूक का पता चलते ही उन्होंने चार वरिष्ठ आईएएस अफ़सरों को सस्पेंड कर दिया और पंद्रह को लंबी छुट्टी पर भेज दिया।

yogi-adityanath-parikrama
ग़लती से स्कूल की परिक्रमा करते मुख्यमंत्री योगी जी

हुआ यूँ कि चित्रकूट के मंदिर की 5 किलोमीटर की परिक्रमा करने के बाद योगी जी इलाहाबाद पहुँचे थे। वहाँ पहुँचने पर उन्होंने अफ़सरों से कहा कि “आस-पास जो भी प्रसिद्ध मंदिर है, हमें वहाँ ले चलो, लगे हाथ उसकी भी परिक्रमा कर लेते हैं।”

आदेश सुनते ही अधिकारी उन्हें पास ही में स्थित स्कूल ‘विद्या मंदिर’ ले गये। पहुँचते ही योगी जी ने स्कूल की परिक्रमा शुरु कर दी। उनके साथ सारे चेले-चपाटे, अफ़सर और गार्ड वगैरह भी चक्कर काटने लगे। परिक्रमा ख़त्म करने के बाद योगी जी पसीना पोंछते हुए बोले कि “अब हमें आरती करनी है।”

तो अफ़सरों ने उनसे विद्या की देवी सरस्वती की आरती करा दी। आरती के बाद योगी जी ने कहा कि “अब हमें घंटा भी बजाना है।” यह सुनते ही अफ़सरों ने उन्हें स्कूल की घंटी थमा दी। घंटी को देखकर योगी जी थोड़ा चौंके क्योंकि उन्हें वो मंदिर के घंटे से कुछ अलग लगी लेकिन फिर यह सोचकर उसे बजाने लगे कि ‘इस मंदिर में ऐसे ही घंटे की परंपरा रही होगी!’

लेकिन जैसे ही उन्होंने घंटी बजाई, बच्चे हल्ला मचाते हुए कक्षाओं से निकलकर भागने लगे। बच्चों की लदर-पदर देखकर योगी जी के हाथ से घंटी छूट गई और अफ़सर की गिरेबान आ गई। वो चिल्लाते हुए बोले, “तुम लोग ये हमें कहाँ ले आये हो?” अफ़सर ने गिड़गिड़ाते हुए कहा- “विद्या मंदिर…स्कूल!” स्कूल का नाम सुनते ही योगी जी को मितली आ गई और वो भुनभुनाते हुए किसी और मंदिर के लिये रवाना हो गये।



ऐसी अन्य ख़बरें