Monday, 20th February, 2017
चलते चलते

"अगर साक्षी और सिंधु ने 'पाकिस्तान नरक है' नहीं बोला, तो मेडल वापस ले लेंगे" -कैलाश विजयवर्गीय

23, Aug 2016 By बगुला भगत

इंदौर. भारतीय जनता पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने एक बार फिर अजीबोग़रीब बयान दिया है। इस बार विजयवर्गीय ने मांग की है कि “अगर पीवी सिंधु और साक्षी मलिक ने ‘पाकिस्तान नरक है’ नहीं बोला तो उनके मेडल वापस ले लिये जायें।” दोनों ओलंपियनों को दो दिन का समय देते हुए उन्होंने कहा कि “अगर दो दिन के अंदर दोनों ने ‘पाकिस्तान नरक है’ नहीं कहा तो उन्हें देशद्रोही माना जायेगा।”

Kailash
राष्ट्रपति मुखर्जी को देशभक्ति का सर्टिफिकेट देते कैलाश जी

इंदौर में ‘तिरंगा यात्रा’ के दौरान विजयवर्गीय ने कहा कि “वो असली देशभक्त हो ही नहीं सकता, जो पाकिस्तान को नरक ना मानता हो।” जब एक पत्रकार ने पूछा कि “लेकिन उनकी देशभक्ति पर सवाल क्यूं उठा रहे हैं आप?, इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा- “चेक करने में क्या बुराई है? क्या पता वे मन ही मन पाकिस्तान को अच्छा मानती हों। हमें पता तो करना चाहिये।”

“क्या पाकिस्तान को नरक बताना ज़रूरी है?” इस पर वो बोले कि “दोनों बातें एक साथ कैसे हो सकतीं हैं? या तो भारत अच्छा होगा या पाकिस्तान! पाकिस्तान नरक है, इसका मतलब ही ये है कि भारत स्वर्ग है।”

“लेकिन आपके विरोधी आपकी तिरंगा यात्रा पर सवाल उठा रहे हैं”, इस पर बीजेपी के इस फ़ायरब्रांड नेता ने कहा कि “तिरंगा यात्रा निकालना बच्चों का खेल है क्या? ओलंपिक के मेडल से भी ज़्यादा मेहनत लगती है इसमें!”

“लेकिन मेडल तो उन्हें ओलंपिक वालों ने दिये हैं।”, विजयवर्गीय इस सवाल का जवाब दिये बिना अपना झंडा लेकर आगे बढ़ गये।

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विजयवर्गीय के इस बयान से नाराज़गी जतायी है। उन्होंने भावनात्मक अपील करते हुए कहा है कि “चाहे मेरे सारे मेडल और ईनाम ले लो लेकिन मेरे किसी प्लेयर से कुछ मत कहो!”



ऐसी अन्य ख़बरें