Sunday, 24th September, 2017

चलते चलते

रोमियो पकड़ने गयी पुलिस ने ग़लती से पकड़ लिया एक बड़ा क्रिमिनल, एसओ समेत चार अफ़सर सस्पेंड

23, Mar 2017 By बगुला भगत

लखनऊ. अक्सर एतिहासिक और बड़े कामों को अंजाम देते समय लोगों से छोटी-मोटी ग़लतियाँ हो जाती हैं। यूपी पुलिस के जांबाज़ अफ़सरों से भी कल एक ऐसी ही ग़लती हो गयी। शहर के कुख्यात मनचलों की धर-पकड़ में लगी पुलिस ने कल ग़लती से एक सामान्य हत्यारे और बलात्कारी मुन्ना बजरंगी को पकड़ लिया। इस ग़लती की वजह से पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।

Anti Romeo Squad4
एक कुख्यात रोमियो को पकड़कर ले जाती पुलिस

हुआ यूँ कि मुख्यमत्री योगी के आदेश पर एंटी-रोमियो स्क्वायड की एक टुकड़ी लोहिया पार्क में रोमियो पकड़ने गयी थी। इसी धरपकड़ में ग़लती से उसके हाथ एक नामी क्रिमिनल मुन्ना बजरंगी लग गये। बजरंगी जी के कई नेताओं से घनिष्ठ संबंध हैं और वो ख़ुद भी पार्षद का चुनाव लड़ चुके हैं और कई लोगों को परलोक पहुंचाने का पुण्य काम कर चुके हैं। कल भी वो ऐसे ही किसी परोपकार के लिये पार्क के एक कोने में बैठे अपने तमंचे में कारतूस डाल रहे थे। तभी एंटी-रोमियो स्क्वायड वहां आ धमका और उन्हें रोमियो समझकर पकड़ लिया।

पकड़ते ही स्क्वायड ने उन्हें दो-चार चाँटे रसीद कर दिये और उनका मोबाइल भी छीन लिया। बजरंगी ने जब पुलिस वालों को गालियाँ सुनाईं और अपने बेस्ट फ्रेंड एमएलए से फ़ोन पर बात करायी तो पुलिस को अपनी ग़लती का अहसास हुआ। इसके बाद पूरा पुलिस स्कवॉड बजरंगी जी से माफ़ी मांगने लगा और सीनियरों को ना बताने की मिन्नत लगाने लगा। लेकिन बजरंगी नहीं माने। उन्होंने कहा कि “कल को तुम मेरे जैसे किसी और भोले-भाले क्रिमिनल को भी तंग करोगे। तुम्हें ऐसे नहीं छोड़ूंगा!”

इस घटना की जानकारी देते हुए सीओ अवनीश मिश्रा ने मीडिया को बताया कि “हमें बजरंगी जी को हुई असुविधा के लिये खेद है। हमारा पूरा डिपार्टमेंट उनसे हाथ जोड़कर माफ़ी मांगता है। असल में, हमारी टीम को शाम तक 50 रोमियो पकड़ने के टारगेट को पूरा करना था। इसलिये पार्क के बाद उन्हें एक मॉल में भी जाना था, बस इसी हड़बड़ी में उनसे ये ग़लती हो गयी।”

उधर, इस कांड का पता चलते ही मुख्यमत्री योगी आदित्यनाथ, डीजीपी जावीद अहमद के साथ हज़रतगंज थाने पहुंचे और दोषी पुलिस अफ़सरों को सस्पेंड कर दिया। योगी जी के जाने के बाद सीओ ने कहा कि सारे पुलिसवालों को अब रोमियो और आम अपराधी में फ़र्क करने की ट्रेनिंग दी जायेगी ताकि भविष्य में ऐसी ग़लती दोबारा ना हो।



ऐसी अन्य ख़बरें