Wednesday, 29th March, 2017
चलते चलते

ट्रम्प से ज्यादा जीवंत दिख रहा था उनका मोम का पुतला,पुतला बनाने वाले गलती से असली ट्रम्प की करने लगे फिनिशिंग

20, Dec 2016 By banneditqueen

लंदन. पिछले कई महीनों से मैडम तुसाद संग्रहालय के लोग दिन रात डोनाल्ड ट्रम्प का पुतला बनाने में लगे हुए है। यह पुतला आज यानि के 20 जनवरी को पूरी दुनिया के सामने लाया जाएगा। हालाँकि समस्या तब हो गई जब म्यूज़ियम में काम करने वाले लोगों ने मोम के पुतले की जगह असली ट्रम्प को मोम का समझ लिया। हुआ यूँ कि जब ट्रम्प अपनी पुतला देखने के लिये आए तब पुतले का थोड़ा सा काम बाकी था।

आप भी पता नहीं लगा सकते यह असली है या नकली
आप भी पता नहीं लगा सकते यह असली है या नकली

संग्रहालय में काम करने वाले जोनाथन ने देखा की ट्रम्प के चेहरे पर एक झुर्री असली ट्रम्प से कम है। वह तुरन्त ही सूई के आकार का औज़ार ले आया और चहरे पर झुर्री बनाने लगा। उसने जैसे ही सूई चेहरे पर लगाई ट्रम्प झल्ला उठे और ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगे “वॉट द हेल डू यू तिंक यू अअर डूइंग?” जोनाथन हैरान होकर ट्रम्प का चेहरा छूकर चेक करने लगे कि यह क्या जादू है कहीं मोम के पुतले में जान तो नहीं  आ गई। इस हरकत पर ट्रम्प और नाराज़ हो गए और वहाँ से चले गए। तभी एक दूसरा कारीगर ट्रम्प का मोम का पुतला लेकर आया तब जोनाथन की समझ में आया कि जिसने उसपर चिल्लाया वह असली ट्रम्प थे।

सबने जोनाथन से जब पूछा कि ट्रम्प गुस्सा होकर क्यों चले गए तब उसने बताया कि “आई थॉट ही वास द वैक्स स्टैचू, मुझे एक और झुर्री बनानी थी इसीलिये मैं औज़ार लेकर आ गया पर जैसे ही मैंने ट्रम्प का चेहरा छूकर देखा तो वह भड़क गए, मुझे यकीन ही नहीं हुआ कि मोम का पुतला कैसे बोलने लगा तो मैंने दुबारा छू कर देखा बस तभी ट्रम्प चिल्लाते हुए बाहर चले गए। ” इस घटना के बाद जोनाथन को काम से निकाल दिया गया है। मीडिया इसमें हेट क्राइम का एंगल ढूंढने में लगी है।



ऐसी अन्य ख़बरें