Wednesday, 25th April, 2018

चलते चलते

RAC कन्फर्म कराने को युवक नहीं था उत्सुक, TTE ने परेशान होकर खुद ही किया सीट का इंतज़ाम

06, Mar 2018 By banneditqueen

भुसावल. ट्रेन का टिकट वेटिंग से RAC हो जाए तो लगता है इससे अच्छा तो लगता है कि कैंसिल ही करा लेते। कई लोगों की किस्मत में RAC भी नहीं होता तो वो टॉयलेट के बाहर बैठ कर ही पूरा रास्ता काट कर आते हैं। RAC बर्थ मिलने पर लोग ट्रेन में घुसते ही TTE का इंतज़ार करते हैं कि चुपके से उसे पाँच सौ की एक पत्ती थमाएं ताकि कोई खाली बर्थ मिल सके। ऐसे में TTE भी इसी फिराक में होता है कि शायद कोई ऐसा हो जो अपनी ट्रेन मिस कर जाए।

Jab-We-Metपर कल फिरोज़पुर से मुंबई आ रही पंजाब मेल में सफर कर रहे मनीष यादव ने TTE को देखकर भी अपनी RAC बर्थ को कन्फर्म कराने की बात नहीं छेड़ी। TTE मुकेश कई बार मनीष के सामने यह प्रस्ताव लेकर आए कि दूसरी कोच में एक बर्थ खाली है परन्तु मनीष ने बर्थ लेने से इनकार कर दिया। TTE ने कई चक्कार लगाने के बाद मनीष को खुद ही सीट अलॉट कर दी उसके बावजूद भी मनीष अपनी बर्थ पर बैठा रहा। इस बरताव को देख TTE मुकेश काफी परेशान हो गए। आखिरकार थक हार कर उन्होंने मनीष को पूछा ” दुनिया जहां के लोग इसी फिराक में होते हैं कि कैसे न कैसे कन्फर्म बर्थ मिल जाए पर तुम हो कि टस से मस नहीं हो रहे।”

इस पर मनीष ने बताया कि ”देखिये TTE साहब ऐसा है कि सामने वाली बर्थ पर एक सुन्दर सी कन्या है, उनका स्टेशन ही हमारा स्टेशन भी सेम है। अगर हम आपकी दी हुई सीट ले लेंगे तो सुबह उनसे गपशप नहीं हो पाएगी और ना ही हमारी कोई बात आगे बढ़ पाएगी। ये आप पांच सौ रुपया रखिए और मेरा पीछा छोड़िए।”



ऐसी अन्य ख़बरें