Wednesday, 13th December, 2017

चलते चलते

रीचार्ज कराने गया था युवक, दुकानदार ने बहला-फुसलाकर कर दिया फोन नंबर आधार से लिंक

30, Nov 2017 By Guest Patrakar

कानपुर. लोक सभा चुनाव में अब दो साल से भी कम समय रह गया है, ऐसे में सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती है ‘आधार’ को सफल बनाना! और इसके लिए सरकार सारे दाँव खेल रही है लेकिन लोग अपने फोन नम्बर को आधार से जोड़ने से क़तरा रहे हैं। कई लोगों ने शिकायत की है उनकी अनुमति के बिना ही उनका नम्बर आधार से जुड़ गया है। ऐसी ही एक शिकायत दर्ज कराई है रमराज यादव ने।

mobile-recharge-shop
आधार से जुड़ने की शिकायत करते रमराज यादव

रमराज यादव ने कानपुर पुलिस थाने में दर्ज कराई शिकायत में कहा है कि जब वो अपने फोन में टाप-अप कराने गए तो दुकानदार ने उन्हें बातों में लगा कर उनका फ़ोन आधार से लिंक कर दिया। रमराज ने इस बारे में फ़ेकिंग न्यूज़ संवाददाता से बात की। पेश हैं उस बातचीत के कुछ अंश-

संवाददाता: रमराज जी क्या हुआ आपके साथ, हमें विस्तार में बताइए?

रमराज: हम्मम्म!

संवाददाता: बताइए रमराज जी!

रमराज: बवा नई पाएँगे?

संवाददाता: क्या इतना बुरा हुआ आपके साथ? जिसे बता भी नहीं बता पाएँगे?

रमराज: नहीं, खैनी खाए हैं!

संवाददाता की बात रमराज से किसी नतीजे तक नहीं पहुँच पाई, मगर आस-पड़ोस के लोगों की मानें तो रीचार्ज कराने वाला दुकानदार सरकारी एजेंट है और वो एक सीक्रेट मिशन पर है। जिसके तहत उसको अधिक से अधिक लोगों के नम्बर को आधार से लिंक करना है।

सरकार इस काम में कई लड़कियों की भी मदद ले रही है, जो लड़के चलते-फिरते इन लड़कियों से नम्बर माँगते हैं, उनका नम्बर लेकर ये लड़कियाँ आधार से लिंक कर देती हैं। लेकिन ये सारी मेहनत तब तक बेकार है, जब तक सरकार इस योजना में पारदर्शिता नहीं लाती और इसे फुल प्रूफ़ नहीं बनाती।



ऐसी अन्य ख़बरें