Thursday, 30th March, 2017
चलते चलते

शहाबुद्दीन ने बताया दिल्ली को बिहार से भी पिछड़ा, कहा- "यहां के जेल में तो एक मोबाइल तक नहीं है"

19, Feb 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. आरजेडी के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन आज तिहाड़ जेल पहुंच गये और पहुंचते ही उन्होंने दिल्ली को बिहार से भी पिछड़ा राज्य बता दिया। उनका कहना है कि “हमरे बिहार को फालतू में बदनाम कर के रक्खा है। हमारा तो जेल भी तुम्हारे दिल्ली से बहुत अच्छा है।”

Shahabuddin2
सीवान जेल में सेल्फ़ी लेते शहाबुद्दीन जी

पटना की सीवान जेल से ट्रांसफर होकर शहाबुद्दीन आज सुबह संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस से नयी दिल्ली स्टेशन पहुंचे, जहां से उन्हें तिहाड़ जेल ले जाया गया। तिहाड़ के गेट पर पहुंचते ही वो वहां खड़े जेलर और दूसरे अफ़सरों को घूरकर देखने लगे। तभी एक सिपाही ने उन्हें गेट के अंदर ठेलते हुए कहा- “देख के रहया है दीद्दे फाड़ कै। आग्गे नै बढ़ ले!”

किसी पुलिस वाले का पहली बार बिना नमस्ते किये ऐसे बोलना शहाबुद्दीन को बुरा तो लगा लेकिन वो किसी तरह सब्र करके अंदर चले गये। लेकिन वहां अपनी कोठरी की हालत देखकर चुप नहीं रहा गया।

“यही है देश का राजधानी! डेभलपमेंट देखना है तो हमारे बिहार के जेल में जाकर देखो! क्या नहीं मिलता वहां पे!” फिर उंगलियों पर गिनाते हुए बोले- “मोबाइल, फ्रिज, कलर टीवी, चिकन-मटन, बिरयानी…क्या नहीं मिलता वहां पे! पांच-पांच फोन हमारे मेज पे पड़ा रहता था।”

“आधे मूड का मां-बहन तो तभी हो गया था, जब ससुरे जेलर ने हमको सलाम नहीं ठोका। बचा-खुचा इस कोठरी को देख के ऑफ हो गया।” -बड़बड़ाते हुए बोले और फिर जेल की सुविधाओं को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को गालियाँ देना शुरु कर दिया। जब बराबर की कोठरी वाले क़ैदी ने बताया कि तिहाड़ केजरीवाल के अंडर में नहीं है, तो प्रधानमंत्री मोदी को उल्टा-सीधा बोलना चालू कर दिया। अंतिम समाचार लिखे जाने तक वो ऐसे ही बड़बड़ा रहे थे और मुंह से कुछ झाग भी निकल रहे थे।



ऐसी अन्य ख़बरें