Sunday, 19th November, 2017

चलते चलते

शादी में नहीं हुआ नागिन डांस, सरकारी बाबू ने मैरिज रजिस्ट्रेशन करने से किया इनकार

31, May 2016 By Ritesh Sinha

दिल्ली- अशोक नागपाल एक एंटीनेशनल कंपनी में काम करता था। वहीँ पूजा वर्मा भी कॉल सेंटर में काम करती थी। दोनों एक दुसरे को दो साल से जानते थे। एक दिन दोनों ने फैसला किया कि वे दोनों शादी करना चाहते हैं, ये सुनकर उनके घर वाले तुरंत तैयार हो गए। शादी की तैयारियां जोरों से चलने लगी और कुछ दिन बाद दोनों की शादी हो गई।

Shaadi
भारतीय शादी में सिंदूर, मंगल-सूत्र के बाद नागिन डाँस एक ज़रूरी रिचुअल हैं

शादी के एक सप्ताह बाद अशोक और पूजा अपनी शादी का रजिस्ट्रेशन करवाने सरकारी ऑफिस गए। वहां ऑफिस के क्लर्क ने उनसे शादी का सबूत माँगा। इस पर अशोक और पूजा ने तुरंत शादी का कार्ड, फोटोग्राफ्स, और विडियो शूटिंग के कैसेट ऑफिस के बाबू के टेबल पर रख दिए। उसने उन फोटोज को चश्मा उठा उठा कर देखा। फिर उसने अशोक से पूछा कि इसमें तो नागिन डांस का कोई फोटो ही नहीं है, लगता है आपकी शादी में नागिन डांस हुआ ही नहीं है इसलिए आपकी शादी का रजिस्ट्रेशन नहीं हो सकता। अशोक और पूजा के पैरों तले जमीन खिसक गयी।

अशोक और पूजा ने घर में आकर अपने पापा को बताया तो उसने तुरंत बैंड वाले को घर बुलाकर उसका बैंड बजा दिया। कानपुर वाले फूफा ने सारा ठीकरा बेगुसराय वाली मौसी पर फोड़ते हुए कहा कि, “मैंने तो हजार बार बैंड वाले को कहा की नागिन धुन बजाओ हम सब “नागपाल” परिवार उस पर डांस करेंगे और मैंने तो अपने रुमाल को “बीन” भी बना लिया था, लेकिन उसी वक़्त बेगुसराय वाली मौसी बीच में आ गई और उसने मुन्नी को बदनाम कर दिया।”, मौसा जी ने आरोप लगाया।

इतना सुनकर बेगुसराय वाली मौसी झल्ला गई और उसने बीच में टोकते हुए कहा कि, “मैंने तो केवल दो गानों पर ही डांस किया था बाकी समय तुम क्या घास खा रहे थे? ये सारा किया धरा मेरठ वाले मामा जी का है, वही एक हैं जिनसे हमारी खुशियाँ देखी नहीं जाती। इस पर मेरठ वाले मामा जी भड़क गए और उन्होंने बेगुसराय वाली मौसी को “चुड़ैल” नामक शब्द से संबोधित करते हुए कहा की, “मैं तेरे जैसी नहीं हूँ, मैं केवल एक बजे तक ही बैंड वालों के पास खड़ा था जैसे ही खाना बना, मैं खाना खाने चला गया था।”

तब अशोक के पापा ने अशोक के सारे दोस्तों को “गद्दार” घोषित करते हुए कहा कि, “साले सिर्फ बातें ऊँची ऊँची करते हैं, काम का न काज का दुश्मन अनाज का।” अपने दोस्तों को गाली दिए जाने पर अशोक भड़क गया और सर्कुलर जारी करते हुए कहा कि, अपने घर के लोगों से हुई गलतियों के लिए दूसरों को दोष न दिया जाए। घर के सारे मेहमान क्या गुलाब जामुन खाने के लिए ही आए थे?”, अशोक ने गुस्से में कहा। खबर लिखे जाने तक पूजा के माँ बाप भी वहां पहुँच गए थे और उन्होंने तुरंत शादी में हुए खर्च का हिसाब लगाने के लिए केलकुलेटर की ओर कदम बढ़ा दिए थे।



ऐसी अन्य ख़बरें