Tuesday, 16th January, 2018

चलते चलते

आधार कार्ड ना होने की वजह से देशवासियों को गिफ़्ट नहीं दे पाये सांता क्लॉस

26, Dec 2017 By Kanwar Pal Singh

बठिंडा. आज सुबह जब कुलविंदर सोकर उठा, तो उसकी आँखें फटी की फटी रह गयीं क्योंकि उसे अपनी धुली हुई ज़ुराबों में कोई गिफ़्ट नहीं दिखा। परिवार वालों से संपर्क करने पर पता चला कि कुलविंदर पहली बार कनाडा से पंजाब छुट्टियों पर आया है और हर साल की तरह इस बार भी क्रिसमस पर सांता क्लॉस से गिफ़्ट मिलने की उम्मीद कर रहा था।

Sad Santa
आधार ना होने से मायूस बैठे सैंटा जी

लेकिन सांता नहीं आया और कुलविंदर बिना दूध पीये ही सो गया। बठिंडा की दुर्गा कॉलोनी में हुई इस घटना से लोगों में भारी रोष है और इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली की दुर्गा कॉलोनी में बंद बुलाया है और सांता क्लॉस की तुरंत गिरफ़्तारी की मांग की है।

बढ़ते दबाव को देखते हुए कनाडा और भारत ने एक उच्च-स्तरीय कमेटी का गठन कर दिया, जो बड़ी मेहनत के बाद इस नतीजे पर पहुँची है कि सांता क्लॉस निर्दोष हैं। “हमारी रिपोर्ट में ये सामने आया है कि सांता क्लॉस ने ऐसा जान-बूझकर नहीं किया। असल में, वो आधार कार्ड ना होने की वजह से ही वे सारे गिफ़्ट डिलीवर नहीं कर पाये! जिंगल बेल…जिंगल बेल…जिंगल ऑल द वे!” -कमेटी के अध्यक्ष थॉमस अरोरा ने गाते हुए कहा।

उधर, दुर्गा कॉलोनी के ही निवासी संतोष कुमार ने सांता क्लॉस के आधार कार्ड बनवाने का जिम्मा उठा लिया है। ये वही संतोष हैं, जो हाल ही में ‘कुत्ते’ और ‘रजनीगंधा’ का आधार कार्ड बनवाने के केस में ज़मानत पर रिहा हुए हैं। “आई बिलीव इन हार्ड वर्क एंड कंसिस्टेंसी!” -यह कहना है संतोष कुमार जी का। उधर, सांता क्लॉस ने कुलविंदर से माफ़ी मांगते हुए उसके Paytm अकाउंट में सत्तर रुपये नकद जमा करा दिये हैं, जिसकी रिसिप्ट उन्होंने हमारे रिपोर्टर को व्हॉट्सएप कर दी है।



ऐसी अन्य ख़बरें