Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

जेल में पहुँचते ही जेलर से बोले सलमान- "स्वागत नहीं करोगे हमारा!"

06, Apr 2018 By Guest Patrakar

जोधपुर. बॉलीवुड के बैड बॉय के दो ही ठिकाने- एक मयखाना और दूसरा थाने! सलमान ख़ान को काला हिरण कांड में गुरुवार को पाँच साल की सज़ा हो गई। कोर्ट के फ़ैसले के तुरंत बाद सलमान को जोधपुर सेंट्रल जेल ले जाया गया। जहाँ उन्होंने जेलर से मुलाक़ात पूरे फ़िल्मी अन्दाज़ में की। जेल में घुसते ही उन्होंने अपनी मशहूर फ़िल्म ‘दबंग’ का डायलॉग “स्वागत नहीं करोगे हमारा!” बोल डाला।

Salman Jail
जेल में अपना स्वागत कराने जाते सल्लू भाई

हमारे संवाददाता ने जोधपुर सेंट्रल जेल के डिप्टी-जेलर मानवेंद्र बिश्नोई से बात की और सलमान की पूरी दिनचर्या की जानकारी ली। मानवेंद्र जी ने बताया, “सलमान शाम चार बजे यहाँ आए थे। आते ही उन्होंने अपनी दबंग मूवी का डायलॉग हम पर चेप दिया। उन्होंने कहा ‘स्वागत नहीं करोगे हमारा?’, जिस पर मैंने भी उसी मूवी का ‘सुधर जाओ, वरना हम सुधारने पर आए तो बहुत नुक़सान हो जाएगा’ डायलॉग बोल कर नहले पे दहला मार दिया। सलमान को सेल नम्बर 34 मिला है, जो कि आसाराम बापू का भी है। जब सलमान को यह पता चला तो वो मायूस हो गए लेकिन बापू यह सुनकर बहुत ख़ुश हैं।”

हालाँकि आसाराम के साथ सेल शेयर करने वाले अन्य क़ैदियों ने फ़ेकिंग न्यूज़ के माध्यम से भाई को कुछ सलाहें दी हैं। उन्होंने कहा, “पहले तो हमें दुःख है कि सल्लू भाई को सज़ा हुई है और उस से ज़्यादा दुःख इस बात का है कि उन्हें आसाराम के साथ रहना पड़ेगा। हम बस उनसे इतना ही कहेंगे कि रात को करवट लेकर ना सोएँ। बापू कितना भी बोले आशीर्वाद लो, पैर छूने के लिए ग़लती से भी ना झुकें और अगर नीचे दो हज़ार का नोट भी क्यूँ ना पड़ा हो, उसे उठाने का प्रयास ना करें!”

बहरहाल, सलमान को अब एक दिन और जेल में बिताना पड़ेगा। उनकी ज़मानत याचिका पर फ़ैसला अब शनिवार को होगा। जो भी हो, उस रात जो लोग मुंबई में फ़ुटपाथ पे सो रहे थे, वे यही सोच रहे होंगे कि “ऐसा क्या था उस चिंकारा में जो हम में नहीं है?”



ऐसी अन्य ख़बरें