Thursday, 27th July, 2017
चलते चलते

अमरिंदर के शपथ-ग्रहण समारोह में हंगामा, सिद्धू को 'ठोको ताली' नहीं बोलने दिया राज्यपाल ने

16, Mar 2017 By बगुला भगत

चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के शपथ-ग्रहण समारोह में आज ज़बरदस्त हंगामा हुआ। नये-नकोर कांग्रेसी बने नवजोत सिंह सिद्धू को शपथ लेते समय राज्यपाल ने ‘ठोको ताली’ नहीं बोलने दिया। जिससे सिद्धू नाराज़ हो गये और उन्होंने शपथ लेने से ही इनकार कर दिया। पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी और कैप्टन साब के समझाने-बुझाने के बाद वो किसी तरह माने और शपथ लेने को राज़ी हुए।

Siddhu2
‘ठोको ताली’ बोलने के लिये मुंह खोलते सिद्धू

राजभवन के सूत्रों के मुताबिक, सिद्धू को पहले ही साफ़-साफ़ समझा दिया गया था कि शपथ लेते समय उन्हें क्या बोलना है और क्या नहीं। राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने उन्हें राजभवन और शपथ-ग्रहण समारोह की गरिमा का ख़याल रखने की हिदायत देते हुए समझाया था कि यहां ‘गुरु’, ‘खटाक’ या ‘ठोको ताली’ नहीं बोलना है और ठहाका तो बिल्कुल भी नहीं लगाना है। इसके लिये उन्हें सुबह-सुबह बुलाकर कई बार रिहर्सल भी करायी गयी थी।

लेकिन सिद्धू बार-बार ‘ठोको ताली’ बोल रहे थे। जब राज्यपाल ने डांटा तो वो रुआंसे होकर बोले- “कंट्रोल नहीं होता, क्या करूं! आपको शपथ दिलानी है तो दिलाओ, नहीं तो रहने दो!” सिद्धू को रुआंसा देख राज्यपाल ने समझाया- “ऐसा करो, शपथ लेने के बाद तुम ‘ठोको ताली’ मन मन में बोल लेना।” इसके बाद सिद्धू मान गये। उन्होंने शपथ ली और ‘ठोको ताली’ मन ही मन में बोल दिया।

इससे पहले, इस कार्यक्रम में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के भाग लेने पर भी सस्पेंस बना रहा। शुरु में उनका भाग लेना पक्का नहीं था क्योंकि किसी ने उनसे कह दिया कि जहां भी आप जाते हो, वहां कांग्रेस की सरकार नहीं बन पाती। लेकिन जब पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें समझाया कि “अब तो सरकार बन चुकी है, अब कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता!” इसके बाद राहुल के मन का डर निकल गया और वो समारोह में आने के लिये मान गये।

राहुल के साथ कांग्रेस के लगभग सभी दिग्गज़ नेता कांग्रेस के आख़िरी मुख्यमंत्री को शपथ लेता देखने के लिये मौजूद थे क्योंकि उन्हें लगता है कि पंजाब के बाद अब शायद ही कहीं कांग्रेस की सरकार बने और शायद ही उनका कोई और नेता मुख्यमंत्री पद शपथ ले पाये।



ऐसी अन्य ख़बरें