Wednesday, 13th December, 2017

चलते चलते

बिना बात के सड़क की मरम्मत कर रहा मज़दूर अनजान है कि इवांका वापिस जा चुकी हैं

03, Dec 2017 By Pagla Ghoda

गच्चीबौली, हैदराबाद. विप्रो जंक्शन के पास कड़ी धूप में सड़क की मरम्मत कर रहा मज़दूर रामआसरे पनवेल इस बात से बिलकुल अनजान था कि जिन इवांका ट्रम्प की ट्रिप की वजह से उस सड़क की मरम्मत का काम शुरू हुआ था, वो अब वापस अमेरिका लौट चुकी हैं और उस रोड से नहीं गुज़रेंगी।

road construction
इवांका के लिये चमचमाती सड़क बनाता रामआसरे

रामआसरे और उनके मित्र रामावतार को जब यह बताया गया तो वे दोनों काफी हैरान परेशान हो गए। पसीना पोंछते हुए रामआसरे ने कहा, “बाऊजी, तीन दिन से हम बढ़िया वाला तारकोल घोल-घोल के सड़क को बराबर कर रहे हैं। कल तो अपैक्स अल्टिमा का सफ़ेद पेंट लाकर के हमने पूरी ढाई मील की सड़क पे पट्टी बनाई है। सड़क पे पेंट करते-करते हमारे एक तीसरे दोस्त रामचरण का तो तीन-चार बार तेज़ आती गाड़ियों से एक्सीडेंट होत-होते बचा। हम तो सोचे थे कि मैडम का काफिला जब यहाँ से गुज़रेगा तो बढ़िया सड़क देख के वो बहुत खुश होंगी और हमें शाबासी और बख्शीश दी जाएगी। अब?”

दूसरे मज़दूर रामावतार ने भी इस मामले पर क्रोध प्रकट किया। अपना स्मार्टफोन चेक करते हुए उन्होंने कहा, “क्या बात कर रहे हो भैया जी, नहीं आयेगीं मैडम? अब क्या करें हम, खोद दें पूरा सड़क फिर से, हैं जी? कोई और बड़का बिदेसी नेता आएगा तो फिर कुछ बखसीस का चांस बनेगा। चलो रे, बीच-बीच में सब लोग सड़क खोद-खोद के पॉट-होल बना दो, और सफ़ेद पट्टी वाला पेंट भी उखाड़ दो, और साइड में माली लोग जो पौधे क्यारियां लगा गए हैं बढ़िया वाली, उन्हें भी उखाड़ दो। कल को सब लोग जब काम पे वापिस आएं तो उन्हें ऐसा ना लगे कि किसी विकसित देस में आ गए हैं, अपना देस ही लगना चाहिए।”

जहाँ, इवांका के जाने से मज़दूर लोग खफा हैं, वहीं शहर के लोग प्रार्थना कर रहे हैं कि कोई और बड़ा विदेशी नेता शहर के टूटे-फूटे हिस्सों का जल्द ही दौरा करे ताकि वहां भी रातों-रात नयी सड़कें बन जाएँ, हॉस्पिटल खुल जाएँ और पुलिस की बीट चौकी स्थापित हो जाएं।



ऐसी अन्य ख़बरें