Sunday, 17th December, 2017

चलते चलते

"आधार से कुछ भी लिंक करवाने में हमें बड़ा मज़ा आता है": रविशंकर प्रसाद ने किया खुलासा

17, Sep 2017 By Ritesh Sinha

गुरुग्राम. केन्द्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक और ‘आधार’ बम फोड़ते हुए कहा है कि, “हम जल्द ही ड्राइविंग लाइसेंस को आधार कार्ड से लिंक करवाने वाले हैं! ताकि फर्जी लाइसेंस वालों को पकड़ा जा सके!” जैसे ही मंत्री जी ने यह घोषणा की, देश में सरदर्द की गोलियों की बिक्री 300% तक बढ़ गई। लोगों को जगह-जगह अपना माथा पीटते हुए भी देखा गया।

ravi shankar prasad
आधार कार्ड को जोड़ने की धमकी देते रविशंकर प्रसाद जी

लेकिन इस घोषणा के समय एक अजीब घटना हो गई। दरअसल, वहां मौजूद एक पत्रकार उस दिन सर पे कफ़न बांधकर आया था, उसने मन ही मन सोचा कि, “आज तो मैं पता लगाकर ही रहूँगा कि सरकार आधार कार्ड के पीछे क्यों पड़ी हुई है? क्या इन्हें आधार के अलावा कुछ और नज़र नहीं आता? आज तो इस बात का जवाब लेकर ही जाऊँगा!” यही सोचकर इस पत्रकार ने मंत्री जी पर कुछ सवाल दाग दिए।

उसने पूछा- “मंत्री जी, आपको जनता को परेशान करके क्या मिलता है?” तो रविशंकर प्रसाद ने इस सवाल के जवाब में कई चौकाने वाले खुलासे कर दिये। उन्होंने जवाब दिया कि, “देखिए! कुछ लोग मनोरंजन के लिए फिल्म देखने जाते हैं, कुछ क्रिकेट खेलते हैं, फुटबॉल खेलते हैं, या शाम को किसी अड्डे पर पहुंचकर पार्टी करते हैं! सबका अपना-अपना तरीका होता है दिल बहलाने का! हमारा भी अपना एक अलग तरीका है। जब हम आधार कार्ड वाले नियम बनाते हैं तो हमें बहुत ख़ुशी मिलती है! समझ लो कि यही हमारा मनोरंजन है!” -कहते हुए मंत्री जी ज़रूरत से ज़्यादा मुस्कुराने लगे।

“लोग परेशान होते हैं, तो आपको कोई पछतावा नहीं होता?” -पत्रकार महोदय ने अगला प्रश्न दागा। इस बार मंत्री जी भड़क गए और तमतमाते हुए बोले- “अपने सवालों पर ब्रेक मारिए! हमें पछतावा क्यों होगा? अभी तुम लोग भारत और ऑस्ट्रेलिया का मैच देखोगे कि नही?  तो फिर हमे भी थोड़ा मजा ले लेने दो!” इतना सुनते ही पत्रकार महोदय चक्कर खाकर गिर पड़े। जब उसे पंखे के नीचे ले जाकर बिठाया गया, तब कहीं जाकर होश आया। तब तक मंत्री जी वहां से जा चुके थे।



ऐसी अन्य ख़बरें