Thursday, 19th January, 2017
चलते चलते

बिना नकल किये Assignment लिखता पकड़ा गया छात्र, प्रोफेसर ने दी सज़ा

09, Aug 2016 By banneditqueen

भोपाल. मैनिट के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के छात्र विजय ममतानी को एक हफ्ते पहले उनके प्रोफेसर अजय ओझा ने पॉवर डिवाइसेज़ पर असाइनमेंट लिखने को दिया। असाइनमेंट पूरा करने की अवधि एक हफ्ते की थी। काफी छात्र डेडलाइन से पहले ही अपना असाइनमेंट लिख कर ले आए। कुछ छात्रों ने आखिरी दिन अपना असाइनमेंट सबमिट कर दिया।

दूसरों के असाइनमेंट चेक करता विजय
दूसरों के असाइनमेंट चेक करता विजय

सबमिशन के दिन वो छात्र भी कक्षा में उपस्थित थे जो बाकी समय गायब रहते हैं,पर विजय क्लास से नदारद था। प्रोफेसर ने कहा कि “कल मैं एक भी असाइनमेंट नहीं लूंगा, जिसको देना है आज 5 बजे के पहले आकर मुझे दे जाए”। शाम तक सभी बच्चों के असाइनमेंट आ चुके थे सिवाय विजय के। प्रोफेसर किसी काम से लाइब्रेरी पहुँचे तो उन्होंने देखा कि विजय वहाँ असाइनमेंट की एक-एक लाइन खुद से लिख रहा था।

प्रोफेसर ने ये देखते ही विजय पर चिल्लाना शुरू कर दिया। “शर्म नहीं आती है तुम्हें! क्लास के सारे बच्चों ने असाइनमेंट की एक एक लाइन कॉपी कर के लिखी है और तुम यहाँ इतनी मेहनत करके असाइनमेंट लिख रहे हो, हमारे पूर्वजों ने इतनी मुशकिल से गूगल, विकिपीडिया का इजाद किया और तुम यहाँ एक एक लाइन खुद से लिख कर क्या खुद को सबसे ज्यादा इंटेलीजेंट समझ रहे हो “- चिल्लाते हुए अजय ओझा ने बोला। इस के बाद प्रोफेसर  ने सज़ा के तौर पे विजय को सभी बच्चों के असाइनमेंट चेक करने के लिये पकड़ा दिये। जिसका भी असाइनमेंट कॉपी किया हुआ नहीं था विजय को उसका असाइनमेंट गूगल से कॉपी कर के दुबारा लिखना था।



ऐसी अन्य ख़बरें