Monday, 24th July, 2017
चलते चलते

घोड़े की लीद से राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को हुई एलर्जी, शाही बग्गी में बैठकर संसद जा रहे थे

31, Jan 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को आज घोड़े की लीद से एलर्जी हो गयी। यह ‘लीदनाक’ हादसा सुबह उस समय हुआ, जब राष्ट्रपति अपनी शाही बग्गी में बैठकर संसद की संयुक्त बैठक को संबोधित करने पार्लियामेंट जा रहे थे। वहां पहुंचकर उन्होंने अपना अभिभाषण तो ठीक-ठाक पढ़ दिया लेकिन उसके बाद उन्हें छींकें आने लगीं। तुरंत राष्ट्रपति भवन के स्पेशल डॉक्टर को बुलाया गया, जिसने उन्हें एलर्जी की पुष्टि कर दी।

pranab1
शाही बग्गी में बैठकर जाते राष्ट्रपति प्रणब

उनकी देखभाल कर रहे डॉक्टर लोकेश लिद्दर ने बताया कि “राष्ट्रपति जी को ‘लीद-एलर्जी’ हुई है, जो अक्सर घोड़ों के संपर्क में आने से हो जाती है। मैं पहले भी कई बार मना कर चुका हूं कि उन्हें बग्गी में नहीं चलना चाहिये लेकिन मेरी सुनता कौन है!”

“हमारे राष्ट्रपति के लिये करोड़ों रुपये की मर्सिडीज लिमोजिन खड़ी हैं और वे गोलों-हथगोलों से भी सेफ़ हैं। लेकिन उनमें खड़े-खड़े जंग लग रहा है और ये सैंकड़ों घोड़ों को पाल रहे हैं, वो भी सिर्फ़ 500 मीटर के लिये! और उसकी भी नौबत साल में दो बार ही आती है!” -डॉ. लिद्दर ने हैरानी जताते हुए कहा।

राष्ट्रपति भवन के सूत्रों ने बताया कि छह घोड़े तो बग्गी में लगे हुए थे। उनके अलावा, 50-60 घोड़े और थे, जो बग्गी के आगे-पीछे चल रहे थे। इसलिये अभी कन्फर्म नहीं है कि उन्हें एलर्जी बग्गी वाले घोड़े की लीद से से हुई है या किसी दूसरे घोड़े की लीद से!

सूत्रों ने यह भी बताया कि कोचवान अब्दुल ने घोड़ों के पिछवाड़े पर कपड़े की थैली बांध रखी थी ताकि सड़क पर गंदगी ना फैले। वैसे तो प्रणब दा बग्गी की पिछली सीट पर बैठते हैं, लेकिन फिर भी लीद की स्मैल उनकी नाक तक पहुंच गयी। स्मैल की चपेट में आते ही उन्हें ज़ोर-ज़ोर से छींकें आने लगीं।

फिलहाल राष्ट्रपति भवन के सिक्योरिटी ऑफ़िसर बग्गी के कोचवान अब्दुल से पूछताछ कर रहे हैं कि उसने घोड़ों के पृष्ठ भाग पर कपड़ा क्यूं टांग रखा था। अब्दुल का कहना है कि वो तो ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का पालन कर रहा था। पर्यावरण मंत्रालय के एक अफ़सर ने उसे ऐसा करने को कहा था।

अब्दुल ने अपनी सफ़ाई में यह भी कहा कि “रास्टपति साब दो दिन पहले भी तो बग्गी में बैठे थे- ‘बीटिंग रिट्रीट’ के लिये। अगर लीद में कोई प्रॉब्लम होती तो एलर्जी उसी दिन ना हो गयी होती!”



ऐसी अन्य ख़बरें