Thursday, 14th December, 2017

चलते चलते

"अगर गुजरात में बीजेपी हार गयी तो पीएम पद भी छोड़ दूँगा" -प्रधानमंत्री मोदी का एलान

27, Nov 2017 By बगुला भगत

भुज. जिस तरह राजपूतों ने ‘पद्मावती’ को अपनी आन-बान-शान का सवाल बना लिया है, उसी तरह प्रधानमंत्री मोदी ने भी गुजरात के इलेक्शन को अपने मान-सम्मान का प्रश्न बना लिया है। एक चुनावी रैली में उन्होंने आज ऐसा एलान कर दिया, जिसे सुनने के बाद पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है।

Modi- Gujarat Election
वोट देने की भावुक अपील करते प्रधानमंत्री मोदी

भुज की रैली में चौंकाने वाला एलान करते हुए मोदी जी ने कहा, “बहनो-भाईयो, अगर बीजेपी इस बार गुजरात में हार गयी तो मैं प्रधानमंत्री पद से भी इस्तीफ़ा दे दूँगा!” यह सुनते ही मंच पर सन्नाटा छा गया। लेकिन वो यहीं नहीं रुके, उन्होंने भावुक होते हुए आगे कहा, “तो अगर आप लोग मुझे प्रधानमंत्री बने देखना चाहते हो तो बीजेपी को गुजरात में भी जिताना होगा।”

“इस चुनाव में डाला गया एक-एक वोट सीधा मुझे जायेगा और मैं भरोसा दिलाता हूँ कि आगे भी गुजरात का मुख्यमंत्री मैं ही रहूँगा। जैसे भगवान राम घट-घट में व्याप्त हैं, उसी तरह मैं भी हर राज्य में व्याप्त हूँ! अर्थात कुर्सी पे कोई भी बैठे, असली सीएम मैं ही रहता हूँ!” -कहते कहते वो फफकने की कोशिश करने लगे।

लेकिन हैरानी की बात है कि बीजेपी का कोई भी नेता इस एलान से टेंशन में दिखाई नहीं दिया। एक कोने में दबाकर समोसे उड़ा रहे गडकरी जी से जब हमारे रिपोर्टर ने पूछा कि “आपको इस बात से ज़रा भी टेंशन नहीं है?” तो वो मुँह पर लगी चटनी पोंछते हुए बोले, “देखो भैय्या, मोदी जी के चुनावी वादों की सच्चाई पूरी दुनिया जानती है।” फिर अगले समोसे पर वहशी नज़र डालते हुए उन्होंने कहा, “और बाद में इसे ‘जुमला’ बताने की लाइफ़लाइन भी तो है हमारे पास!”

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है, चूंकि गुजरात से भी मोदी जी का ‘विशेष नाता’ रहा है, इसलिये वो इस इलेक्शन को दिल से ले रहे हैं। उधर, कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष ने इस एलान को प्रधानमंत्री की ‘इमोशनल ब्लैकमेलिंग’ बताया है।



ऐसी अन्य ख़बरें