Saturday, 18th November, 2017

चलते चलते

"GST की मैंने जो नई फ़ुल फ़ॉर्म बताई है, वो ही वैलिड है; पिछली सब रद्द समझी जाएँ" –प्रधानमंत्री मोदी

18, Jul 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जब ‘जीएसटी’ लागू किया था तो देशवासियों को उसकी फ़ुल फ़ॉर्म ‘गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स’ बताई थी। उसके बाद से प्रधानमंत्री मोदी अपनी तरफ़ से इस कुख्यात टैक्स की कई अलग-अलग फ़ुल फ़ॉर्म बता चुके हैं। नयी वाली उन्होंने कल बतायी। पार्लियमेंट के मॉनसून सत्र से पहले सभी दलों के नेताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “मित्रो! ‘GST’ का मतलब होता है- Growing Stronger Together!”

Modi- Full Form
जीएसटी की नयी फ़ुल फ़ॉर्म समझाते प्रधानमंत्री मोदी

इसके बाद पूरे देश में कन्फ़्यूजन फैल गया। लोगों को समझ नहीं आया कि क्या समझें? मुनीरका के राजबीर टोकस ने अपना सर खुजाते हुए कहा कि “एक तो म्हारी समझ मैं अभी तक यो जीएसटी कोन्या आया! अर ऊप्पर सै यो मोदी डेली उसकी एक नयी फ़ुल फ़ॉर्म बता कै म्हारी टेंशन डबल कर रह्या है। पहलै कह रह्या था अक जीएसटी का मतबल होवै है- गुड एंड सिंपल टैक्स। अर अब ‘गरोइंग सटरोंगर…'”  बताते-बताते सतबीर जी अटक गये और फिर झुंझलाते हुए बोले- “पता नई के बताण लाग रह्या सै!”

इस बीच, देश के अन्य हिस्सों से भी फ़ुल फॉर्म्स के ख़िलाफ़ विरोध-प्रदर्शन की ख़बरें आ रही हैं। लोगों ने हाथों में तख़्तियाँ ले रखी हैं और जगह-जगह नारे लगा रहे हैं- “एक देश, एक फ़ुल फ़ॉर्म!”

उधर, कन्फ़्यूजन बढ़ता देख मोदी जी को ख़ुद सामने आना पड़ा है। उन्होंने इस मामले पर सफ़ाई देते हुए कहा है कि “मेरे प्यारे BB…मेरा मतलब…प्यारे बहनो-भाईयो! मैंने कल से पहले जीएसटी की जितनी भी फ़ुल फ़ॉर्म बताई हैं, वे सब रद्द समझी जायें। आज से सिर्फ़ ये नयी फ़ुल फ़ॉर्म ही वैलिड होगी।” वो ये सब कहकर उठने ही वाले थे कि तभी बराबर में बैठे वेंकैया नायडू उनके कान में कुछ फुसफुसाये।

जिसे सुनकर उन्होंने पत्रकारों को रोक कर कहा, “एक मिनट…एक मिनट! अभी ये वाली फ़ाइनल नहीं है! फ़ाइनल फ़ुल फ़ार्म मैं आपको 15 अगस्त को बताऊँगा! तब तक आप लोग इसी से काम चलाओ!”

बाद में, पीएमओ ने एक विज्ञप्ति जारी करके कहा कि प्रधानमत्री जी ने अभी तक जितनी भी फ़ुल फ़ॉर्म बतायी हैं और जितने भी ‘थ्री पी’, ‘फ़ाइव टी’ और ‘सेवन एस’ वाले मंत्र दिये हैं, जल्द ही उनकी एक किताब छपवाई जायेगी। जिसका विमोचन नये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद करेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें