Friday, 24th November, 2017

चलते चलते

"नोटबंदी का आइडिया मुझे केजरीवाल ने दिया था!" -प्रधानमंत्री मोदी का खुलासा

08, Nov 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. पिछले साल जब नोटबंदी हुई तो हर कोई यह जानना चाहता था कि बड़े नोट बंद करने का ‘महान’ आइडिया मोदी जी को किसने दिया? आज तक इस सवाल का सटीक जवाब नहीं मिल पाया है। लेकिन आज नोटबंदी का एक साल पूरा होने के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी का सारा ठीकरा अपने घोर-विरोधी अरविंद केजरीवाल के सर पर फोड़ दिया है।

Modi- Kejriwal
केजरीवाल से नोटबंदी का आइडिया लेते मोदी जी

मोदी ने ट्वीट सन्देश में खुलासा किया है कि नोटबंदी का पूरा तामझाम उन्होंने केजरीवाल के कहने पर ही किया था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि, “मुख्यमंत्री बनने के बाद जब वे मुझसे मिलने आए थे, तब उन्होंने कहा था कि मोदी जी एक बार नोटबंदी कर ही दो! ..तो मैंने कर दिया! अब जो भी कहना है उन्हें ही कहो! मेरी कोई गलती नहीं है!”

उनके इस खुलासे के बाद मीडिया वाले अरविन्द केजरीवाल के पीछे पड़ गए। एक पत्रकार ने उनसे पूछा- “क्या केजरीवाल जी! आप मोदी जी को चुपके से नोटबंदी करने के लिए कहते हो! और जब वे ऐसा कर देते हैं, तो आप विरोध करते हो? ये क्या चक्कर है?”

यह सवाल सुनकर केजरीवाल तमतमा गए, उन्होंने बिफरते हुए कहा, “किसने कहा कि ये मेरा आईडिया था! मोदीजी झूठ बोल रहे हैं! अपनी करतूतों को मेरे सर पर थोपना चाहते हैं! मैं तो उन्हें जरा भी पसंद नहीं करता, तो फिर मैं उन्हें एडवाइज कैसे दे सकता हूँ! ये सब बकवास है!”

आप पार्टी के अन्य नेता भी इस आरोप से गुस्से में नज़र आए। “मोदीजी सरासर झूठ बोल रहे हैं! नोटबंदी में हमारा कोई योगदान नहीं था! अरविंद जी ऐसा आईडिया क्यों देंगे? ये सब हमें बदनाम करने की साजिश है!”-आशुतोष ने ट्वीट किया।

उधर, इस घटना के बाद अमित शाह, प्रधानमंत्री से मिलने पहुंचे और दोनों टीवी खोलकर बैठ गए। टीवी पर मीडिया वाले आप पार्टी के नेताओं से सफाई मांग रहे थे। यह देखकर दोनों खी-खी करके हंसने लगे। अमित शाह बोले- “क्या मास्टर स्ट्रोक मारा है मोदीजी आपने! बहुत सबूत मांगता था ना! आज आया है ऊंट पहाड़ के नीचे! अब देते रहो जवाब!”-कहते हुए दोनों फिर से खी-खी करके हंसने लगे।



ऐसी अन्य ख़बरें