Thursday, 21st September, 2017

चलते चलते

किंगफ़िशर के कैलेंडर पर भी नज़र आ सकती है प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर: सूत्र

17, Jan 2017 By bapuji

नयी दिल्ली. सारा देश मानता है कि प्रधानमंत्री मोदी की एक अलग ही ब्रांड इमेज है और इस ब्रांड के प्रयोग से कई डूबती हुई योजनाएं फिर से जीवित हुई हैं। कांग्रेस की कई पुरानी ख़स्ताहाल योजनाओं में प्रधानमंत्री की ब्रांड इमेज ने नई जान फूँक दी। अभी हाल ही में खादी के कपड़े-जिन्हें सिर्फ़ नेता और कुछ मॉडल पहनते थे, आजकल फिर से चर्चा में आ गये, जब खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के कैलेंडर पर प्रधानमंत्री की फोटो लगी। बीजेपी के नेताओं ने कहा कि “जो खादी पिछले साठ साल से कोई नही खरीदता था, मोदी के नाम से वो फिर से बिकने लगी।”

kingfisher calendar
कैलेंडर में योग को बढ़ावा देती एक मॉडल

इसी से उत्साहित होकर केंद्र सरकार अब डूबती हुई कंपनी किंगफिशर में फिर से जान डालने के लिए प्रधानमंत्री की ब्रांड इमेज का प्रयोग करने पर विचार कर रही है। सूत्रों के मुताबिक, किंगफिशर के चर्चित कैलेंडर पर अब अधनंगी मॉडल्स की जगह जल्द ही प्रधानमंत्री मोदी नज़र आने वाले हैं। हमारे प्रबुद्ध पाठक जानते हैं कि अभी तक मॉडेल्स के समंदर के आस-पास के अर्धनग्न फोटोज की वजह से किंगफिशर कंपनी का खर्चा-पानी चल रहा था। ऐसे में कैलेंडर पर जब मोदी जी दिखेंगे तो उन मॉडल्स के साथ-साथ लोगों को भी झटका लगेगा लेकिन खादी की तरह किंगफिशर के प्रॉडक्ट्स की बिक्री ज़रूर बढ़ जायेगी। कैलेंडर के फोटोशूट के लिए कपड़ों का जिम्मा जाने-माने फैशन डिज़ाइनर मनीष मल्होत्रा को दिए जाने की संभावना है।

उधर, विपक्षी पार्टियों ने इसका जमकर विरोध किया है। राष्ट्रीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि “मोदी जी ने उन हॉट मॉडेल्स की नौकरी खा ली, अब बेचारी लड़कियों के घरों में चूल्हा कैसे जलेगा। हम उन्हें पक्की नौकरी देगे।” वहीं, इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बात करते हुए नेहरू जैकेट पहने राहुल गाँधी ने अपनी बाँहे चढ़ाते हुए कहा कि “कुछ लोग हर चीज़ पर अपना नाम डाल रहे हैं, ये आदत ठीक नही है।” बसपा सुप्रीमो मायावती का कहना है कि “ग़रीब दलित लड़कियों की जगह कैलेंडर पर अपना फोटो छपवाते समय मोदी जी को शर्म नहीं आयी?”



ऐसी अन्य ख़बरें