Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

'वैलेंटाइन डे' पर प्रधानमंत्री मोदी का सिंगल लड़कों के नाम संदेश

14, Feb 2018 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘वैलेंटाइन डे’ के पावन पर्व पर देश के सभी सिंगल लड़कों को शुभकामनाएँ दी हैं और साथ ही उनसे सहानुभूति भी जताई है। इस मौक़े पर उन्होंने सिंगल समुदाय से धैर्य बनाये रखने की अपील की है।

Modi-Valentine Day
सिंगल्स को संबोधित करते हुए भावुक हो उठे मोदी जी

सिंगल लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “भाईयों और बहनों भाईयों! सिंगलपन से मेरा बहुत पुराना नाता है क्योंकि मैं भी आपकी तरह एक सिंगल हूँ। मुझे आपकी पीड़ा का पूरी तरह अहसास है। लेकिन एक बात ध्यान रखो कि अगर एक चाय वाला देश का पीएम बन सकता है तो कोई भी सिंगल कभी भी ‘फ्रेंडज़ोन’ से निकल सकता है!”

इसके बाद उन्होंने सिंगल्स को फ़ाइव ‘P’ का मंत्र देते हुए कहा, “‘प्यार’, ‘पकौड़ा’, ‘पेशेंस’, ‘प्रपोजल’ और ‘प्लेट’! अगर इन पाँच ‘पी’ का ध्यान रखोगे तो कितने भी ख़तरनाक फ्रेंडज़ोन से बाहर निकल आओगे और ज़िंदगी में कभी सिंगल नहीं रहोगे!”

“‘प्यार’ के ‘पकौड़े’ को ‘पेशेंस’ के बेसन में लपेटकर धीमी आँच पे पकाओ और फिर ‘प्रपोजल’ की ‘प्लेट’ में सजाकर दो तो वो उस पकौड़े को खाने से कभी मना नहीं कर पाएगी! ये मेरा आपसे वादा है। अगर ऐसा ना हो तो जिस ठेले पे बुलाओगे, मैं वहाँ आने को तैयार हूँ, फिर वो पकौड़ा मुझे खिला देना!” -उन्होंने प्रॉमिस करते हुए कहा।

“भाईयों और भाईयों! इस अवसर पर मुझे आपसे एक कड़वी बात भी कहनी है। वो ये कि आपने अपने प्यार के इज़हार के लिए फूल ही ग़लत चुना है। एक बार उसे ‘गुलाब’ की जगह ‘कमल’ का फूल देकर के देखो! फिर देखो वो कैसे तुम्हारे फूल को एक्सेप्ट करती है।”

अपने वैलेंटाइन संदेश के अंत में उन्होंने कहा, “वैसे, इकतरफ़ा प्यार में पड़े रहना भी एक रोज़गार है। इसलिए मेरी आप सबसे अपील है कि खाली मत बैठो…काम पे लगे रहो और कंसन्ट्रेशन बनाए रखो! आज नहीं तो कल प्यार का परमानेंट जॉब मिल ही जाएगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें