Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

"बेटी बचाओ से मेरा मतलब था अपनी बेटी ख़ुद बचाओ!" –मोदी जी ने समझाया स्लोगन का अर्थ

12, Apr 2018 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज संसद का कामकाज बाधित होने के विरोध में उपवास पर बैठ गये। उपवास पर बैठने से पहले उन्होंने अपने मशहूर स्लोगन ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का सही अर्थ भी समझाया। उन्होंने कहा कि “बेटी बचाओ स्लोगन का मतलब है अपनी-अपनी बेटी ख़ुद बचाओ!”

Modi- Beti Bachao
“स्लोगन का सही मतलब समझो मित्रो!”

असल में, उपवास पर बैठते समय एक रिपोर्टर ने उनसे देश भर में बढ़ रही बलात्कार की घटनाओं पर सवाल पूछ लिया कि “मोदी जी आपने कहा था कि आप नारी पर अत्याचार नहीं होने देंगे। आपने स्लोगन भी दिया था कि बेटी बचाओ…” इस पर उन्होंने रिपोर्टर को बीच में ही डाँटते हुए कहा, “मेरे स्लोगन की ग़लत व्याख्या मत करो मित्र! मैंने कभी नहीं कहा कि मैं बचाऊँगा!”

“अगर मुझे ही बचाना होता तो मैं ये ना कहता कि ‘बेटी बचाऊँगा, बेटी पढ़ाऊँगा’, जैसा मैंने दूसरे स्लोगन में कहा था- ‘ना खाऊँगा ना खाने दूँगा!” -उन्होंने रिपोर्टर को समझाते हुए कहा।

“मैं चार साल से कह रहा हूँ कि भैय्या अपनी ‘बेटी बचाओ…बेटी बचाओ’ लेकिन कोई मेरी बात सुन ही नहीं रहा!” -यह कहते हुए मोदी जी थोड़ा उत्तेजित हो गये, फिर बोले, “आप लोग क्या चाहते हो, स्लोगन भी मैं ही बनाऊँ और बेटी भी मैं ही बचाऊँ?”

इसके बाद रिपोर्टर को हाथ से जाने का इशारा करते हुए बोले, “बस! आज के लिए इतना काफ़ी है। अगली बार मैं ‘सबका साथ सबका विकास’ का अर्थ समझाऊँगा ताकि कोई कन्फ़्यूजन ना रहे!। अब मुझे शाँति से उपवास करने दो, जाओ!” यह कहकर वो गाँधी जी के स्टेच्यू की तरफ़ मुँह करके बैठ गये।



ऐसी अन्य ख़बरें