Sunday, 22nd October, 2017

चलते चलते

मोदी जी का धनुष टूटने के पीछे केजरीवाल का हाथ?, सीबीआई कर रही है जांच

02, Oct 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. दशहरे के मौक़े पर कल जब प्रधानमंत्री मोदी रावण के पुतले पर तीर चलाने वाले थे, तभी अचानक उनका धनुष टूट गया और उन्हें भारी शर्मिंदगी उठानी पड़ी। मजबूरी में मोदी जी को तीर को ही भाले की तरह फेंककर मारना पड़ा, तब कहीं जाकर रावण को मारा जा सका। इसके 5 मिनट बाद ही उन्होंने इस घटना की सीबीआई जांच के आदेश दे दिये।

Modi- Dhanush
अपने टूटे हुए धनुष को देखते मोदी जी

सीबीआई आदेश मिलते ही हरकत में आ गयी और उसने उसी समय जांच शुरु कर दी। वो दशहरा कार्यक्रम के आयोजकों से लेकर कारीगरों तक, सबसे पूछताछ कर रही है। आयोजकों ने पूछताछ में बताया है कि उन्होंने प्रधानमंत्री जी के आने से एक घंटा पहले तीर और धनुष की ठोक-बजाकर जांच की थी, दोनों एकदम सही-सलामत थे। शायद इस एक घंटे के अंदर ही किसी ने उनके साथ छेड़छाड़ कर दी।

आयोजकों के जवाब से तो सीबीआई को कोई मदद नहीं मिली लेकिन रामभरोसे नाम के एक कारीगर के बयान से महत्वपूर्ण सुराग़ हाथ लगा है। रामभरोसे ने अधिकारियों को बताया कि उसने एक संदिग्ध व्यक्ति को मंच के आसपास घूमते देखा था।

“वो आदमी ऐसे गर्मी के मौसम में भी मफ़लर बांधे घूम रहा था, इसलिये हम उसका चेहरा ढंग से नहीं देख पाये। वो चप्पल पहने हुए था, उसकी कमीज ज़रूरत से ज़्यादा लंबी थी और वो बीच-बीच में खाँस रहा था और ‘मोदी जी…मोदी जी’ कर रहा था।”-रामभरोसे ने कल शाम की घटना को याद करते हुए कहा।

जो हुलिया रामभरोसे ने बताया है, उसके आधार पर सीबीआई उस संदिग्ध व्यक्ति का स्केच बनवा रही है। सूत्रों का कहना है कि इस हुलिये के हिसाब से शक की सुई दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल की ओर घूम रही है।

इस बीच, अभी तक केजरीवाल की ओर से इस बारे में कोई बयान या ट्वीट नहीं आया है। सीबीआई उनके ट्वीट करने का इंतज़ार कर रही है। उसे उम्मीद है कि उनके ट्वीट से ज़रूर कोई ना कोई अहम सुराग़ हाथ लगेगा।



ऐसी अन्य ख़बरें