Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

पेट्रोल-डीज़ल को और महँगा कैसे करें?- प्रधानमंत्री मोदी ने 'मन की बात' में मांगे सुझाव

02, Feb 2018 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. केंद्र सरकार देशहित में पेट्रोल और डीज़ल की क़ीमतें समय-समय पर बढ़ाती रहती है लेकिन फिर भी वो इन क़ीमतों को उतना नहीं बढ़ा पा रही है, जितना बढ़ाना चाहती है। इस वजह से देश में अभी भी ऐसे सैंकड़ों लोग मौजदू हैं, जो सौ-पचास का तेल डलवाने के बजाय टंकी फुल करा रहे हैं और सरकार के लिए यही चिंता की बात है।

Modi-Mann Ki Baat
देशवासियों से सुझाव माँगते मोदी जी

पेट्रोलियम सचिव से लेकर वित्त मंत्री जेटली तक, सब अपने आइडियाज दे चुके हैं और अब उनके पास कोई और आइडिया नहीं बचा। इसलिए अब प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ‘मन की बात’ प्रोग्राम में देशवासियों से सुझाव मांगे हैं कि पेट्रोल और डीज़ल को और महँगा कैसे कर सकते हैं।

‘मन की बात’ में राष्ट्र के नाम संबोधन में मोदी जी ने कहा, “मेरे प्यारे देशवासियों! हम सबको मिलकर इस देश को महान बनाना है और पेट्रोल-डीजल को महँगा किये बिना ये काम हो सकता है क्या? जब मेरे देश के लोग सौ रुपये लीटर से सस्ता तेल खरीदते हैं तो मेरा सर शर्म से झुक जाता है। क्या हम इतने ग़रीब है? मैं आप लोगों से पूछता हूँ, क्या हम पाकिस्तान से भी ग़रीब है?”

“और पिछले हफ़्ते बजट में पेट्रोल-डीजल को सस्ता करने का नया प्रेशर आ गया। मैं सोचने लगा कि ऐसा कैसे हो कि साँप भी मर जाये और मेरी लाठी भी ना टूटे! ऐसे में दसरथ महतो ने मुझे राह दिखाई।”

“दो दिन पहले मुझे छत्तीसगढ़ के एक छोटे से गाँव में रहने वाले दसरथ महतो की चिट्ठी मिली। उस चिट्ठी ने मुझे भावुक कर दिया। दसरथ भाई ने चिट्ठी में लिखा कि ‘मोदी जी आप बजट में एक्साइज ड्यूटी घटा दो तो तेल सस्ता हो जाएगा और पाँच मिनट बाद एक नया रोड सेस लगा दो तो वो फिर से महँगा हो जाएगा। देश की पब्लिक को सस्ते की फीलिंग भी आ जाएगी और आपका काम भी हो जाएगा।” -कहते कहते प्रधानमंत्री जी का गला भर आया।

“आप लोग भी दसरथ भाई की तरह अपने अनूठे सुझाव भेज सकते हैं और देश के निर्माण में योगदान दे सकते हैं। और अगर आप अपने सुझाव ‘नमो एप’ पर भेजेंगे, तो मुझे और भी ज़्यादा ख़ुशी होगी। ऐसे लोगों को मैं अपने पल्ले से पेट्रोल की पाँच लीटर कैन का तरल ईनाम दूँगा! वंदेमातरम, भारत माता की जय, तिरंगा यात्रा, संबित पात्रा, जय हिंद!”



ऐसी अन्य ख़बरें