Saturday, 23rd September, 2017

चलते चलते

मोदी जी ने पूछा- "बॉर्डर पे क्या चल रहा है", तो जेटली जी बोले- "आजकल तो फ़ॉग चल रहा है"

21, Aug 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे अरुण जेटली के सामने रोज़ नयी मुसीबत खड़ी हो जाती है। पूरी ज़िंदगी तो बेचारे ने पैसे-धेले का हिसाब-किताब रखा और अब मजबूरी में उन्हें गोला-बारूद वाले बयान देने पड़ रहे हैं। तीन-तीन मंत्रालयों का बोझ होने की वजह से वो अक्सर कन्फ़्यूजिया जाते हैं और कुछ का कुछ बोल जाते हैं।

Jaitley13
मोदी जी को फ़ॉग की जानकारी देते जेटली जी

कल शाम कैबिनेट की बैठक में जब प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे पूछा कि “जेटली जी, उधर चाइना बॉर्डर पे क्या चल रहा है?”, तो पता नहीं उन्हें क्या हुआ, वो हवा में हाथ लहराते हुए बोले कि “आजकल तो फ़ॉग चल रहा है सर!” यह सुनकर मोदी जी थोड़ी देर तक जेटली जी मुँह देखते रहे। फिर अपना सर पकड़ कर बैठ गये।

थोड़ी देर बाद उन्होंने जेटली जी को अपने पास वाली कुर्सी पे बिठाया और धीरे से कान में पूछा- “तबियत तो ठीक है मित्र?” तो जेटली जी बोले, “इस जीएसटी की वजह से दिमाग़ का दही हुआ पड़ा है।” यह कहकर वो गोली-कैप्सूल पर जीएसटी का रेट तय करने दूसरी मीटिंग के लिये निकल गये।

जब वो निकलकर जा रहे थे तो एक रिपोर्टर ने पूछ लिया कि “सर, आज सुबह आपने कहा था कि आप चाइना की ईंट से ईंट बजा देंगे। क्या आप उसे युद्ध की धमकी दे रहे हैं?” तो जेटली जी झल्लाते हुए बोले- “यार, एक्साइज वालों ने एयरपोर्ट पे सोने की ईंटें पकड़ी थीं, मैं उसी के बारे में बता रहा था। तभी तुम्हारे जैसे किसी चू@&% रिपोर्टर ने चाइना का सवाल पूछ लिया। बस, उसी चक्कर में सोने की ईंट और चाइना का मिक्स-अप हो गया।”

उधर, जेटली जी की इस नयी-नयी आक्रामकता से उनके घरवाले भी परेशान हैं। वे रोज़ उनसे डिफ़ेंस मिनिस्ट्री छोड़ने की मिन्नत करते हुए कहते हैं कि “अच्छे-ख़ासे नर्म-नाज़ुक इंसान थे, आजकल ये क्या हो गया है! जब देखो मरने-मारने की बातें करते रहते हो।” इस पर जेटली जी यह कहकर पिंड छुड़ाते हैं कि “मैं क्या अपने पास से कहता हूँ! जैसा मोदी जी कहते हैं, वैसा ही बोल देता हूँ।”



ऐसी अन्य ख़बरें