Friday, 18th August, 2017

चलते चलते

बाढ़ के पानी का सदुपयोग करने के लिये शिवराज सरकार करायेगी 'Water Sports' का आयोजन

11, Jul 2016 By banneditqueen

भोपाल. हर साल बारिश शुरू होते ही आम आदमी की जद्दोजहद शुरू हो जाती है। बारिश कब तेज़ हो जाये और कब घर में पानी घुस आए, इस का कोई भरोसा नहीं। मध्य प्रदेश में हो रही लगातार बारिश के बाद कई इलाके पानी में डूब गए हैं। सतना और रीवा जैसे कई शहरों में लबालब पानी भरा हुआ है। यहाँ तक कि राजधानी भोपाल के कई इलाके भी पानी में डूबे हुए हैं।

Flood
जलभराव वाले इलाक़े में नौका दौड़ का ट्रायल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मुसीबत में एक अवसर ढूंढ निकाला है। उन्होंने पानी में डूबे इलाक़ों में वॉटर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने की योजना बनायी है। श्री चौहान ने पानी में डूबे इलाकों का दौरा करने के बाद आपातकालीन बैठक बुलाई। जिसमें फैसला लिया गया कि हर साल बाढ़ आने के बाद सरकार वाटर स्पोर्ट्स का आयोजन करेगी।

बैठक के बाद राज्य के मुख्य सचिव ने पत्रकारों को बताया कि “देखिये, पानी निकालना कोई आसान काम तो है नहीं। भगवान ने बरसाया है और भगवान ही उतारेंगे। इसलिये मुख्यमंत्री जी ने सोचा कि क्यूं ना तब तक इस पानी का सदुपयोग कर लिया जाये।”

यह फ़ैसला लेते ही सरकार ने जेट स्कींग, पैरासेलिंग जैसी प्रतियोगिताएं कराने के लिये अनुमति भी ले ली है। इनके अलावा एक अन्य प्रतियोगिता भी आयोजित करायी जाएगी, जिसमें प्रतियोगियों को पानी वाले इलाकों में जाकर खेल-खेल में लोगों की जान बचानी होगी।

राज्य की खेल मंत्री यशोधरा सिंधिया ने फ़ेकिंग न्यूज़ को बताया कि “नगर निगम से हमें कोई ज्यादा उम्मीद नहीं थी कि वे इस साल भी बारिश के पहले जनता की बेहतरी के लिये कुछ करेंगे, इसलिए वाटर स्पोर्ट्स का आयोजन ही एक मात्र रास्ता था और इससे सरकारी खजाने में कुछ पैसा भी आ जाएगा।”

दिल्ली और महाराष्ट्र जैसे कई अन्य राज्यों की सरकारें भी शिवराज की इस पहल से प्रभावित नज़र आ रही हैं। अब वे भी अपने शहरों में भरने वाले पानी का ऐसा ही सदुपयोग करने पर विचार कर रही हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें