Tuesday, 16th January, 2018

चलते चलते

"इंडिया में चुनाव निपटने के बाद ही आया करेगा तूफ़ान"- मोदी जी को अब केरल पहुँचा देख बोले भगवान

19, Dec 2017 By बगुला भगत

तिरुअनंतपुरम. चुनाव-प्रभावित राज्यों का दौरा करने में व्यस्त प्रधानमंत्री मोदी आख़िरकार आज तूफ़ान ‘ओखी’ से प्रभावित राज्यों का दौरा करने भी पहुँच ही गये। यह देखकर भगवान राम की आँखें भी नम हो गयीं और वो भी अपना सुख-दुख का रोज़मर्रा का शेड्यूल बदलने पर मजबूर हो गये।

Modi- Cyclone Ockhi
चुनाव से निपटते ही ‘फ़ौरन’ लक्षद्वीप पहुँचे मोदी जी

‘ओखी’ से हुई तबाही का जायज़ा लेने के लिये 18 दिन बाद मोदी जी को प्लेन से उतरता देख भगवान द्रवित हो उठे। उन्होंने फ़ैसला किया कि भारत में अब तूफ़ान या भूकंप जैसी कोई भी आपदा चुनाव पूरा होने के बाद ही आया करेगी, ताकि मंतरी-संतरी उस टाइम चुनाव प्रचार करने में बिजी ना हों।

अपने वीकली ‘लगाई-बुझाई’ टूर पर भारत पधारे नारद मुनि ने फ़ेकिंग न्यूज़ संवाददाता को एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में यह ‘दैवीय’ जानकारी दी। नारद जी ने बताया कि “प्रारंभ में तो प्रभु राम मोदी जी की लेट-लतीफ़ी पर अत्यंत कुपित थे, परंतु जब उन्हें पता चला कि वो गुजरात चुनाव के दौरान बारंबार उनका स्मरण कर रहे थे और साथ में उनके प्रसिद्ध मंदिर को भी याद कर रहे थे, तो उनका क्रोध शांत हो गया।”

“प्रभु जान गये कि मोदी जी अपने गुजरात में आये ‘राजनैतिक तूफ़ान’ से निपटने में बिजी थे, इसी वजह से लेट हो गये।” -मुनिवर बोले। “लेकिन नारद जी, वहाँ तो सैंकड़ों लोगों की जान चली गयी और प्रधानमंत्री…” इस पर मुनिवर रिपोर्टर को बीच में ही टोकते हुए बोले, “वत्स, हम जानते हैं कि ओखी तूफ़ान से 200+ लोग मर चुके हैं परंतु ‘मिशन 150+’ उससे कहीं ज़्यादा महत्वपूर्ण था। समझे!”

“और प्रभु का वास तो कण-कण में है। तूफ़ान पीड़ित भी और वोटर भी- सब प्रभु का ही रूप हैं, तो अगर मोदी जी वोटर से मिल लिये तो समझो पीड़ित से ही मिल लिये।”  -यह कहकर नारद जी ‘नारायण नारायण’ करते हुए अंतर्ध्यान हो गये।



ऐसी अन्य ख़बरें