Monday, 26th June, 2017
चलते चलते

मोदी सरकार के 3 वर्ष पूरे होने पर जश्न ना मनाने के चलते विपक्ष नाराज़, कहा ''हंगामा कैसे खड़ा करें?''

26, May 2017 By banneditqueen

एजेंसी. मोदी सरकार के तीन वर्ष आज यानि कि २६ मई को पूरे हुए, इस मौके पर सबको उम्मीद थी कि मोदी सरकार लाखों करोड़ों खर्चा कर के जश्न मनाएगी पर ऐसा नहीं हुआ। इसके विपरीत मोदी जी ने असम में देश का सबसे लंबा ब्रिज -‘ढोल सादिया’ का उद्घाटन किया। इसके अलावा मोदी जी ने सभी विपक्ष के नेताओं के साथ मीटिंग भी की। इस मीटिंग के बाद कांग्रेसी नेता काफी नाराज़ नज़र आए, पहले तो उनकी नाराज़गी की वजह पता नहीं चली।

ब्रिज पर अकेले खड़े होकर जश्न मनाते हुए मोदी जी
ब्रिज पर अकेले खड़े होकर जश्न मनाते हुए मोदी जी

सूत्रों के मुताबिक़ कांग्रेसी और विपक्ष के नेता इसीलिए नाराज़ हैं क्योंकि उन्हें उम्मीद थी कि मोदी जी बड़ा जश्न रखेंगे और जैसे ही इस बात की खबर मिलेगी विपक्ष को मोदी सरकार को आड़े हाथों लेने का मौका मिल जाएगा। पर ऐसा न होने कि वजह से नेता काफी दुखी हैं। दरअसल हुआ यूँ कि जब कल एक पत्रकार ने कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता से मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर बयान देने को कहा तो उन्होंने कहा कि ”मोदी सरकार की मैं कड़ी आलोचना करता हूँ कि न तो उनकी कोई उपलब्धि है न कोई ट्रैक रिकॉर्ड जिसका वो जश्न मनाएं। देश में करोड़ों लोग भूख से मर रहे हैं, किसान आत्महत्या कर रहे हैं पर मोदी जी जश्न मानाने के लिए इतना बड़ा कार्यक्रम कर रहे हैं!! आखिर ईमानदार टैक्स पेयरों का पैसा ऐसे क्यों बहाया जा रहा है?” इस साक्षात्कार लेने वाले पत्रकार ने नेता को बताया कि मोदी सरकार न तो कोई जश्न मन रही है ना ही कोई कार्यक्रम रख रही है बल्कि इसके विपरीत कल मोदी जी विपक्ष के नेताओं के साथ बैठक करेंगे। इस पर कांग्रेसी नेता बौखला उठे और पत्रकार को बिका हुआ बोल दिया।

पत्रकार ने जब दूसरे नेताओं से भी बात की तब उनके बयान भी कुछ ऊल जुलूल थे, सभी यही बोल रहे थे कि मोदी सरकार को फ़ालतू खर्चा नहीं करना चाहिए बल्कि अपने काम की समीक्षा करनी चाहिए। एक नेता ने तो यहाँ तक कह दिया कि ”मैं मोदी जी से बहुत नाराज़ हूँ उन्होंने जश्न न मना कर बहुत बड़ी गलती की है। अरे हम विपक्ष वालों को कोई तो मौका चाहिए होगा न कि मोदी सरकार की बुराई कर सकें।” केजरीवाल जी ने इस मौके पर कोई बयान नहीं दिया, बताया जाता है कि वो कोर्ट कचहरी में इतने बिजी हैं कि मोदी पर हमला करना ही भूल गए।



ऐसी अन्य ख़बरें