Wednesday, 23rd August, 2017

चलते चलते

मोदी ने कहा ''विपक्ष में आने दो नक्सलियों को कड़ा जवाब देंगे''

25, Apr 2017 By banneditqueen

सुकमा. कल छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में हुए नक्सलियों द्वारा हमले में 25 CRPF के जवान मारे गए। वर्ष 2013 में जब नक्सलियों द्वारा हमारे जवानों पर हमले हुए तब विपक्ष में बैठे प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार की कड़ी निंदा की थी और कहा था कि अगर वो सत्ता में आए तो जवानों को मरने नहीं देंगे। कल जब नक्सलियों के हमले के चलते 25 जवान शहीद हो गए तब मोदी जी ने ट्वीट कर कहा कि वो इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं।

विपक्ष की कड़ी निंदा करते मोदी
विपक्ष की कड़ी निंदा करते मोदी

कल हाल ही हुए चुनाव में जीत की ख़ुशी मानते हुए पार्टी सदस्यों की पीठ थपथपाने के लिए बैठक बुलाई गई। मोदी जी काफी देर से जन धन योजना और विकास कार्यों के गुणगान गा  रहे थे। तभी एक पत्रकार ने उनसे सुकमा में हुए हमले पर सवाल पूछा कि ”जब आप विपक्ष में थे तो आपने कहा था कि अगर आपकी सरकार बनी तो जवानो को ऐसे मरने नही देंगे, अब तो आपकी सरकार भी है तो अब आप कोई कड़ा कदम क्यों नहीं उठाते।” मोदी जी ने पहले तो कोई जवाब नही दिया फिर पत्रकार ने उन्हें उनका 2013 का ट्वीट दिखाया जिसमे उन्होंने ये बात कही थी।

तब मोदी जी ने कहा ”आप पत्रकार लोग हैं.. आपका तो काम ही है तथ्यों को तोड़ मरोड़ के पेश करना, 2013 में भाजपा की सरकार थी? थी या नहीं थी? बोलो थी या नहीं थी?… नहीं थी। हमारी पार्टी उस समय विपक्ष में थी, इस समय हम सत्ता में है। हमसे अगर कड़े कदम उठवाने हैं तो हमारा विपक्ष में होना ज़रूरी है। पार्टी ने मैनिफेस्टो में केवल विकास का वादा किया था ना कि कड़े कदम लेने का। कश्मीर में आए दिन पत्थरबाज़ी चल रही है जब हमने उसके लिए कुछ नहीं किया तो आप कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि हम अभी कुछ करेंगे। हमें विपक्ष में आने दीजिये हम तभी कड़े कदम उठा पाएंगे।”

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि आपको हमले की कड़ी निंदा सुननी है तो गृहमंत्री राजनाथ जी से सुनिए, हमने उन्हें सरकार में रखा ही कड़ी निंदा करने के लिए है।



ऐसी अन्य ख़बरें