Monday, 20th November, 2017

चलते चलते

मोदी सरकार में होने वाले फेरबदल को देशवासियों ने "इग्नोर" करने का लिया फैसला

02, Sep 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. भारत की 125 करोड़ जनता ने फैसला किया है कि वे केंद्र सरकार में होने वाले मंत्रियों के फेरबदल को इग्नोर करेंगे। चाहे न्यूज़ चैनल वाले दिन भर यही खबर चलाते रहें, लेकिन वे अपने सर पर ज्यादा लोड नहीं लेंगे। बल्कि, लोगों ने इग्नोर करना शुरू भी कर दिया है। देश के कोने-कोने से ये खबर आ रही है कि लोग मंत्रीमंडल में होने वाले विस्तार के बारे में जरा भी चर्चा नहीं कर रहे हैं। पान की दुकानों में आज भी राम रहीम वाला मुद्दा छाया हुआ है।

किस की जाएगी कुर्सी
किस की जाएगी कुर्सी

हमारे रिपोर्टर्स ने बताया कि, “आज सुबह कामकाजी लोग ऑफिस जाने को तैयार हो रहे थे, बच्चे स्कूल जाने के लिए तैयार हो रहे थे। जो घर से आलू लाने निकले थे, वे पांच मिनट में ही आलू खरीदकर वापस आ गए। ड्राईवर गाड़ी का शीशा साफ़ कर रहा था और अमिताभ बच्चन शौचालय बनाने के लिए दबाव बना रहे थे। देश में सब कुछ पहले जैसा ही हो रहा था। ये सब देखने की बाद, इस बात की पुष्टि होती है कि देशवासियों ने मंत्रीमंडल में फेरबदल को इग्नोर करने का फैसला ले लिया है।”

“अरे यार! अभी तो गुरमीत राम रहीम सिंह वाला किस्सा अच्छा ख़ासा चल रहा था, लोग उसी की बातें कर रहे थे। चलो नोटबंदी वाली खबर भी हम झेल लेंगे। लेकिन बीच में ये मंत्रिमंडल वाली खबर मत लाओ यार! होता कुछ नहीं है, फालतू में न्यूज़ वाले दिन भर चिल्लाते रहते हैं। मैं तो राम रहीम वाले पर ही तीन-चार जोक्स मारूंगा! बाकि सब गए तेल लेने!”- योगेश जैन नाम के एक युवक ने बताया।

“कितने महीने हो गए बिना रक्षा मंत्री के गुजारा चल रहा है! जब हमने कहा कि जल्दी किसी को रक्षा मंत्री बनाओ, तब तो मोदी ने हमारी एक ना सुनी। अब जब हमारा कोई इंटरेस्ट नहीं है, तो भाईसाब नया रक्षामंत्री लाने जा रहे हैं! इसीलिए मैंने इस फेरबदल को इग्नोर करने का फैसला लिया है। चाहे कोई मंत्री बने या ना बने!”-कहता हुआ योगेश अपने मोबाइल में डाटा बैलेंस चेक करने लगा। उधर, सूचना मिली है कि अपने मंत्रियों से नाराज प्रधानमंत्री मोदी, नीतिन गडकरी को दस-बीस मंत्रालय एक साथ पकड़ा सकते हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें