Thursday, 25th May, 2017
चलते चलते

कड़ी निंदा करने वाला व्यक्ति ही बनेगा अगला रक्षा मंत्री, प्रधानमंत्री मोदी ने दिलाया भरोसा

01, May 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. मनोहर पर्रीकर के गोवा के मुख्मंत्री बनने के बाद से ही रक्षा मंत्री का पद खाली पड़ा हुआ है। फिलहाल वित्त मंत्री अरुण जेटली, रक्षा मंत्री का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं। रक्षा विशेषज्ञ लगातार मांग कर रहे हैं कि इतने महत्वपूर्ण पद पर कोई परमानेंट नियुक्ति ना होना देश की सुरक्षा के लिए ठीक नहीं है, फिर भी अब तक अगला रक्षा मंत्री कौन होगा यह डिसाइड नहीं हो पाया है।

Modi Mann
देश को भरोसा दिलाते प्रधानमंत्री मोदी

इस बीच, हर महीने होने वाले ‘मन की बात’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए देश को भरोसा दिलाया है कि जल्द ही परमानेंट रक्षा मंत्री की नियुक्ति कर दी जाएगी। इसमें हो रही देरी के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि “भाइयों और बहनों! चिंता मत कीजिए और हम पर भरोसा रखिए। हम ऐसा आदमी ढूंढ निकालेंगे, जिसे ‘कड़ी निंदा’ करना अच्छे से आता हो। रक्षा मंत्री का पद कोई छोटा-मोटा पद नहीं है, इसमें आए दिन ‘कड़ी निंदा’ करने की जरूरत पड़ती रहती है। इसलिए हम इस पद पर ऐसे आदमी को बिठाना चाहते हैं, जिसे निंदा करने का कम से कम दस साल का अनुभव हो। बस! इसी वजह से इसमें थोड़ी देरी हो रही है।”

वहीं, दिल्ली की राजनीति पर ‘कड़ी’ नज़र रखने वाले एक एक्सपर्ट चंद्रशेखर मिश्र जी ने बताया कि ” देखिए! टेलिकॉम मंत्री बनने वाले बंदे को ‘मोबाइल टावर से रेडिएशन नहीं होता!’ ऐसा बोलना पड़ता है। शिक्षा मंत्री बनने के लिए ‘हम फीस पर लगाम लगाएंगे’ ऐसा कहना पड़ता है। ठीक इसी तरह रक्षा मंत्री बनने के लिए भी आपको कड़ी निंदा करना आना चाहिए।” -मिश्र जी ने अपना पूरा अनुभव झोंकते हुए बताया।

उधर, एक कार्यक्रम में किसी पुस्तक का अनावरण करने पहुंचे अरुण जेटली जी ने बताया कि “देखिए! मेरा काम आजकल बहुत बढ़ गया है, वित्त मंत्री होने के नाते मुझे नये-नये ‘टैक्स’ और ‘सेस’ लगाने के बारे में भी सोचना पड़ता है। इसलिए जितनी जल्दी कोई परमानेंट रक्षा मंत्री बन जाए, मेरे लिए अच्छा होगा।”



ऐसी अन्य ख़बरें