Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

यूपी में चमत्कारः पांच मिनट तक बारिश हुई, आँधी भी चली, फिर भी बिजली नहीं गयी

10, Apr 2018 By बगुला भगत

डुमरियागंज. चमत्कारों की धरती उत्तर प्रदेश में कल फिर एक अनोखी घटना घट गयी। प्रदेश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि बारिश भी होती रही और बिजली भी आती रही। कोई इसे राधे मां का चमत्कार मान रहा है, कोई निर्मल बाबा का तो कोई सीएम योगी का!

electricity-in-up-village1
बारिश में जलते बल्ब को देखती सुत्तन की भौजाई

डुमरियागंज के हगोरी गांव के सुत्तन का कहना है कि “साठ साल की अपनी ज़िंदगी में हमने बारिश और बिजली दोनों कभी एक साथ नहीं देखे साब! बारिश की तो नौबत ही नहीं आती! हम तो हवा चलते ही समझ जाते हैं कि अब तो गयी पंद्रह-बीस दिन के लिये!”

“सन तिरानवे में नेताजी की सरकार के टाइम पे हमारे गांव में एक भैंस पे बिजली का तार गिर गया था, जिससे उस भैंस का मानसिक संतुलन गड़बड़ा गया था। नेताजी ने तभी फैसला कर लिया कि अब बारिश में कभी बिजली नहीं देंगे” -कहते हुए सुत्तन यादों में खो गये।

थोड़ी देर बाद सुत्तन ने आसमान की ओर हाथ जोड़ते हुए कहा, “अपने जीते-जी हमने खंभे और तार देख लिये, ये क्या कम है! हमारे बाप-दादा को तो ये भी नसीब नहीं हुआ।”

इसके बाद हमारे संवाददाता ने डुमरियागंज के एक जेई से भी बात की। जेई ने बताया कि “हवा चलते ही हम सबसे पहला काम बिजली काटने का ही करते हैं क्योंकि गांव का गरीब आदमी जमीन और आसमान की बिजली एक साथ नहीं झेल सकता। डबल जियोपार्डी हो जायेगा ना!”

“और बारिश और आंधी में तार टूट जाते हैं, इसलिये भी हम बिजली काट देते हैं।” -उन्होंने समझाते हुए कहा।

“लेकिन आप ये क्यूँ मानते हैं कि ज़रा सी हवा चलते ही तार टूट ही जाएगा?” इस पर जेई साब ने फुसफुसाते हुए कहा, “आपको पता नहीं है। ये यूपी के तार हैं! हमारी सरकार के वादों की तरह बहुत हल्के होते हैं, ज़रा सी हवा चलते ही टूट जाते हैं।”

फिर जेई साब हँसते हुए बोले, “हवा और बारिश का मज़ा लेने के लिये लोगों को घर से बाहर निकलना चाहिए और ये आलसी लोग घरों में बैठे रहते हैं। इसलिये हमें तो मजबूरी में बिजली कटवानी पड़ती है, ताकि ये लोग घरों से बाहर निकलें। बस, इतनी सी बात है!”



ऐसी अन्य ख़बरें