Wednesday, 23rd August, 2017

चलते चलते

यूपी में फिर चमत्कारः पांच मिनट तक बारिश हुई, हवा भी चली और फिर भी बिजली नहीं गयी

23, Sep 2015 By बगुला भगत

डुमरियागंज. चमत्कारों की धरती उत्तर प्रदेश में कल फिर एक अनोखी घटना घटी। प्रदेश के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि बारिश भी होती रही और बिजली भी आती रही। कोई इसे राधे मां का चमत्कार मान रहा है तो कोई बाबा राम रहीम का!

Rain & Electricity
हवा चलने के बाद भी जल रहे बल्ब को देखते लोग

डुमरियागंज के हगोरी गांव के सुत्तन का कहना है कि “साठ साल की अपनी ज़िंदगी में हमने बारिश और बिजली दोनों कभी एक साथ नहीं देखीं! बारिश की तो नौबत ही नहीं आती! हम तो हवा चलते ही समझ जाते हैं कि अब तो गयी पंद्रह-बीस दिन के लिये!”

“सन तिरानवे में नेताजी की सरकार के टाइम पे हमारे गांव में एक भैंस पे बिजली का तार गिर गया था, जिससे उस भैंस का मानसिक संतुलन गड़बड़ा गया था। नेताजी ने तभी फैसला कर लिया कि अब बारिश में कभी बिजली नहीं देंगे” -कहते हुए सुत्तन यादों में खो गये।

थोड़ी देर बाद सुत्तन ने आसमान की ओर हाथ जोड़ते हुए कहा, “अपने जीते-जी हमने खंभे और तार देख लिये, ये क्या कम है! हमारे बाप-दादा को तो ये भी नसीब नहीं हुआ।”

इसके बाद हमारे संवाददाता ने डुमरियागंज के एक जेई से भी बात की। जेई ने बताया कि “हवा चलते ही हम सबसे पहला काम बिजली काटने का ही करते हैं क्योंकि गांव का गरीब आदमी जमीन की बिजली और आसमान की बिजली एक साथ नहीं झेल पाता। डबल जियोपार्डी हो जायेगा ना!”

जेई ने आगे समझाते हुए कहा कि “बारिश और आंधी में तार टूट जाते हैं, इसलिये भी हम बिजली काट देते हैं।”

“लेकिन आप ये क्यूं मानते हैं कि ज़रा सी हवा चलते ही तार टूट ही गया होगा?” इस पर जेई ने हंसते हुए कहा, “आपको पता नहीं है। ये यूपी के तार हैं! हमारी सरकार के वादों की तरह बहुत हल्के होते हैं, ज़रा सी हवा चलते ही टूट जाते हैं।”

उधर, प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कहना है कि “हवा और बारिश का मज़ा लेने के लिये लोगों को घर से बाहर निकलना चाहिए, जबकि ये आलसी लोग घरों में बैठे रहते हैं। इसलिये हमें तो मजबूरी में बिजली कटवानी पड़ती है, ताकि ये लोग घरों से बाहर निकलें। और कोई बात नहीं है!”



ऐसी अन्य ख़बरें