Saturday, 21st October, 2017

चलते चलते

मोबाइल घर पर भूल जाने के कारण युवक ने पहली बार देखा आसपास का नज़ारा

16, Jun 2017 By banneditqueen

दादर. रोटी, कपडा और मकान से ज़्यादा आज कुछ ज़रूरी है तो वो है मोबाइल। चाहे सोने का वक्त हो या सुबह उठने का, चाहे लघुशंका हो या दीर्घशंका एक काला औज़ार हमारे हाथ में हमेशा होता है और वो है मोबाइल। अगर कभी गलती से हम फ़ोन साइलेंट पर करके इधर उधर रखकर भूल जाएं तो उसे ढूंढते वक्त लगता है हार्ट अटैक ही आ जाएगा। जैसे ही इस बात का एहसास होता है कि हाथ में मोबाइल फ़ोन नहीं है वैसे ही पूरे घर में अफरा तफरी सी मच जाती है।

गुम हैं किसी के प्यार में दिल सुबह शाम
गुम हैं किसी के प्यार में दिल सुबह शाम

शिवाजी पार्क के पास रहने वाले विवेक पांडे आज घर से निकलते समय अपना मोबाइल फ़ोन ले जाना भूल गया, ऑफिस जाने में पहले ही काफी देरी हो चुकी थी तो उसने सोचा ‘चलो आज बिना फ़ोन के ही जाता हूँ’। जब वो ऑफिस बिना फ़ोन के पहुंचा तब सभी लोग अचंभित रह गए। पहुँचते ही उसने अपने बॉस से पूछा ”सर ये चौकीदार कब बदला?” बॉस ने आश्चर्य भारी नज़रों से विवेक की तरफ देखा और कहा ”क्या बकवास कर रहे हो, ये तो पिछले तीन साल से यहाँ काम कर रहा है।” जब विवेक अपनी डेस्क पर पहुंचा तो उसने बगल में बैठे हुए एम्प्लॉई से पूछा ”ये पौधा यहाँ किसने रखा?” उस व्यक्ति ने जवाब दिया ”लगता है आज तू अपना मोबाइल भूल गया” और ऐसा कहकर ज़ोर ज़ोर से हंसने लगा।

विवेक जब घर पहुंचा तो उसे आसपास सब कुछ नया नया लग रहा था, एक पल को उसे लगा कि वो किसी गलत घर में तो नहीं आ गया। उसने पहली बार घर में रखा नया सोफा देखा। पर इससे ज़्यादा वह नहीं देख पाया क्यूंकि उसके तुरंत बाद ही उसका ध्यान टेबल पर पड़े अपने फ़ोन पर चला गया।



ऐसी अन्य ख़बरें