Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

सुमित्रा महाजन को अभी भी लगता है कि कल संसद में हंगामा नहीं होगा

16, Jul 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. कल से संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है और हमेशा की तरह इसके भी हंगामेदार होने की पूरी संभावना है। लेकिन लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, ज़रा भी परेशान नहीं हैं। वे एकदम खुश हैं, और तीन टाइम का भोजन एकदम सही समय पर ले रही हैं। यहाँ तक कि आज सुबह उन्हें अपने घर में मुस्कुराते हुए भी देखा गया है। जबकि उन्हें आज के दिन भारी टेंशन में होना चाहिए, ये सोचकर कि कल संसद चलेगी या नहीं?

LSSpeakerSumitra
“मुझे भरोसा है कि बिल्कुल भी हंगामा नहीं होगा”

लोकसभा अध्यक्ष ने इस बारे में फ़ेकिंग न्यूज़ से विशेष बातचीत की। “आपको ऐसा क्यों लगता है कि कल संसद में हंगामा नहीं होगा? ये तो असंभव है?” ऐसा पूछने पर उन्होंने बताया कि “देखिए! ये असंभव नहीं है, मुझे सूचना मिली है कि बहुत से सांसद सुधर गए हैं। आप कल देख लीजिएगा, सभी सांसद चुपचाप बैठेंगे, कोई हल्ला नहीं करेगा, और ना ही मुझे किसी को डांटकर बिठाना पड़ेगा।”

“खबर है कि आपने इस बार सदन में सेलो टेप का इंतजाम करवाया है, ताकि चिल्लाने वालों के मुंह पर उसे चिपकाया जा सके!” ऐसा पूछे जाने पर वे भड़क गईं। “सरासर झूठी खबर है, मैंने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया है। इस बार हंगामा होगा ही नहीं, मैं बोल रही हूँ, एक बार में बात समझ में नहीं आती क्या?” -उन्होंने उखड़ते हुए जवाब दिया। वहीँ, कई एक्सपर्ट्स सुमित्रा जी के इस एप्रोच की आलोचना भी कर रहे हैं। ऐसे ही एक एक्सपर्ट जगदीश प्रसाद ने बताया कि “यहाँ सभी सांसद, सदन में चिल्लाने के लिए मरे जा रहे हैं और मैडम जी कहती हैं कि कल हंगामा नहीं होगा। इतनी भी लापरवाही ठीक नहीं है!”

उधर, अमेरिका की एक संस्था ने सुमित्रा जी को विश्व की सबसे ‘आशावादी महिला’ घोषित किया है। उन्हें इस महान उपलब्धि पर संस्था की ओर से दस हज़ार डॉलर का ईनाम भी दिया जाएगा। संस्था के चेयरमैन मार्क ऑपटिमिस्ट ने बताया कि “हम बहुत दिनों से एक ऐसे इंसान की खोज में थे, जो सबसे आशावादी हो। और इस वक़्त सुमित्रा ताई से बड़ा आशावादी कोई नहीं है, आप ही बताओ! क्या दुनिया का कोई भी इंसान ये कह सकता है कि इंडिया की संसद में हंगामा नहीं होगा। लेकिन ताई जी ऐसा कह रही हैं, इससे उनके आशावादिता के लेवल का पता चलता है! “



ऐसी अन्य ख़बरें