Wednesday, 20th September, 2017

चलते चलते

अपने लिए नया वकील ढूंढ रहे हैं केजरीवाल, जिसे गाली नहीं आती उसी को बनाएँगे वकील

26, Jul 2017 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. मानहानि के केस में अरविन्द केजरीवाल के वकील राम जेठमलानी ने उनका केस लड़ने से इनकार कर दिया है। जेठमलानी का कहना है कि केजरीवाल के कहने पर ही उन्होंने जेटली को अपशब्द कहे थे। जबकि केजरीवाल ने इस बात से साफ़ इनकार किया है। कोर्ट में दिए गए बयान में केजरीवाल ने कहा है कि उन्होंने अपने वकील को गाली देने के लिए नहीं उकसाया था। केजरीवाल के इस बयान से गुस्सा होकर अब जेठमलानी ने उनका केस लड़ने से ही इनकार कर दिया है और उन्हें ढाई करोड़ का बकाया बिल थमा दिया है। यानि अब केजरीवाल को अपने लिए एक नया वकील ढूँढना पड़ेगा।

Kejriwal-jethmalani
जेठमलानी से केस वापस लेते केजरीवाल

केजरीवाल ने बिना वक्त गंवाए नया वकील ढूँढना शुरू भी कर दिया है, इस बार उनकी शर्त है कि वो सिर्फ उस आदमी को ही वकील बनाएंगे, जिसने जीवन में किसी को गाली ना दी हो। फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत में उन्होंने अपनी रणनीति का खुलासा करते हुए कहा कि “पहले तो मुझ पर एक ही मानहानि का केस चल रहा था, इस जेठू ने जेटली को गाली देकर इसे डबल कर दिया। इसलिये मैंने कान पकड़ लिये हैं कि आईंदा ऐसे आदमी को ही वकील रखूँगा, जिसे गाली देना आता ही ना हो! अब मानहानि का तीसरा केस नहीं चाहिए मुझे!”

“क्या इंडिया में आपको ऐसा वकील मिल जाएगा, जो गाली देना जानता ही ना हो?” ऐसा पूछने पर वो भड़क गए। “अगर मोदीजी चाहेंगे तो हमें ‘संत’ टाइप का वकील भी मिल सकता है, लेकिन वो तो हमें काम ही नहीं करने देते ना! खैर! अब मैं खुद वकीलों के इंटरव्यू लेने वाला हूँ, पहले मैं उनका ‘टैम्पर’ चेक करूँगा, उसके बाद ही उसे अपना केस सौंपूँगा!”

केजरीवाल के इस एलान के बाद कई वकील उनके घर इंटरव्यू देने पहुँच रहे हैं। इन वकीलों का दावा है कि वे कोर्ट में कुछ भी अनाप-शनाप नहीं बोलेंगे। ख़ुफ़िया सूत्रों से पता चला है कि केजरीवाल वकीलों से मुंबई के गड्ढों के बारे में, माल्या और केआरके के बारे में, और धिन्चक पूजा के बारे में उनकी राय पूछेंगे। अगर किसी वकील ने बिना गाली दिए इन सवालों के जवाब दे दिए तो उसे ही अपना अगला वकील रख लेंगे।



ऐसी अन्य ख़बरें