Sunday, 25th February, 2018

चलते चलते

विधायकों के निलम्बन से बचने के लिए केजरीवाल की विधायकों को हिदायत- "लॉस में चलाएँ ऑफ़िस"

25, Jan 2018 By Guest Patrakar

नयी दिल्ली. लाभ के पद के चलते अपने 20 विधायक खो चुके अरविंद केजरीवाल एक नयी रणनीति के साथ वापस आते दिखाई दे रहे हैं। बुधवार शाम को आम आदमी पार्टी की उच्च-स्तरीय मीटिंग में केजरीवाल ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं और MLA को निलम्बित होने से बचने के लिए ऐसी राय दी जो शायद ही भारतीय राजनीति के इतिहास में किसी ने दी होगी।

Kejriwal 2
“चाहे एक रुपये के घाटे में चलाओ…पर चलाओ घाटे में!”

केजरीवाल ने कहा कि “हर कोई हमारे पीछे पड़ा है लेकिन हम इतनी जल्दी हार नहीं मानेंगे। हमारे बीस MLA ‘ऑफ़िस ऑफ़ प्रोफ़िट’ के कारण निलम्बित हो चुके है और आगे ऐसा ना हो इसलिए हम अपना ऑफ़िस अब से ‘लॉस’ में ही चलाएँगे। हमें कहीं फ़ायदा हो भी रहा हो तो भी हम नुक़सान में ही काम करेंगे। हमें क्रांति लानी है और उसके लिए यह क़ुर्बानी कुछ भी नहीं है!”

उनके इस भाषण के बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने फ़ेकिंग न्यूज़ से बातचीत की और दिल्ली के मालिक केजरीवाल की पूरी बात को विस्तार से समझाया। सिसोदिया ने कहा, “ऐसे आइडिया ही हैं, जिनके कारण लोग आम आदमी पार्टी से चिढ़ते और इसी कारण से हमारा मज़ाक़ बनाते है। अरविंद ने हमें कहा है कि ऑफ़िस को लॉस में लाओ तो ही हम हमारे MLA बचा पाएँगे। इसके लिए हम अब जानबूझ कर नुक़सान करेंगे। जहाँ तीन सौ रुपए में काम होगा वहाँ हज़ार रुपयों तक देंगे। जो समोसा हमें पाँच रुपए का पड़ता है, उसके हम तीस रुपए देंगे। जो टेंडर हम दो करोड़ का देते हैं उसमें अपना हिस्सा निकाल कर वही टेंडर हम चालीस हज़ार का देंगे। इस से दिल्ली सरकार को तो लॉस होगा लेकिन हमारे MLA ऑफ़िस ऑफ़ प्रोफ़िट से बच जाएँगे!”

इतना ही नहीं अरविंद की इस मीटिंग के बाद पूरी आम आदमी पार्टी फिर से जोश से भर गई। इस चर्चे की चर्चा राजा रवीश कुमार अपने प्राइम टाइम पर करने लगे। कार्यकर्ताओं ने जोश-जोश में ट्विटर पर ‘#केजरीवाल_एक_सोच’ ट्रेंड करा दिया।

हमने पार्टी के ही एक ऐसे कार्यकर्ता अनिता शाह से बात की। उन्होंने हमें बताया कि वो पिछले कई सालों से आप से जुड़ी हुई हैं। ऑफ़िस ऑफ़ प्रॉफ़िट में ना फँस जाओ इसलिए ऑफ़िस लॉस करा लो, ऐसे ‘आउट ऑफ़ द बॉक्स’ आइडियाज के कारण ही अरविंद के आप में इतने चाहने वाले है। उन्होंने ये भी कहा कि हम मोदी और भाजपा के लोगों को बताना चाहते है कि हम किसी के सामने भी नहीं झुकेंगे।

अब दिल्ली की सरकार का ऑफ़िस प्रॉफ़िट में जाए या लॉस में लेकिन केंद्र और केजरीवाल की लड़ाई में दिल्ली की जनता शत-प्रतिशत लॉस में ही जा रही है। लेकिन आप ग़ुस्सा मत करिए, हँसते रहिए हमारे साथ! कहीं आपके ग़ुस्सा करने से केजरीवाल जी आपसे चंदा ना माँग लें!



ऐसी अन्य ख़बरें