Sunday, 22nd April, 2018

चलते चलते

"फिर से करियर बनाना है तो अन्ना का आंदोलन ज्वॉइन कर लो" -केजरीवाल की मायावती को सलाह

25, Mar 2018 By Ritesh Sinha

लखनऊ/नयी दिल्ली. राज्यसभा चुनाव में बसपा सुप्रीमो मायावती को तगड़ा झटका लगा है। ‘सपा’ विधायकों का वोट ट्रांसफर नहीं होने से उनके प्रत्याशी को हार झेलनी पड़ी है। इस हार से उनके करियर पर प्रश्न-चिन्ह लग गया है! लेकिन इस दुःख की घडी में उन्हें दिल्ली के सीएम केजरीवाल का साथ मिला है।

mayawati1
बहनजी को सलाह देते केजरीवाल जी

केजरीवाल ने आज सुबह बहनजी को फोन मिलाया और सबसे पहले ‘माफ़ी’ वाला स्टेप पूरा किया। “सच में बहन जी! राज्यसभा में आपकी पार्टी की हार से मुझे बहुत दुःख हुआ है!” -सबसे पहले केजरीवाल ने अफ़सोस जताया।

फिर उन्होंने बहन जी को एडवाइज देना शुरू कर दिया- “बहन जी! कोई बात नहीं! आप अपना करियर फिर से शुरू कीजिए! आजकल अन्ना का आंदोलन भी चल रहा है, उसी में शामिल हो जाइए! मैं भी उसी रास्ते से आया हूँ! आज देखिए, मेरे पास क्या नहीं है! अन्ना की कृपा से मेरे पास ज़रूरत से ज्यादा विधायक हैं और आप वहाँ तीन-चार विधायकों के लिए तरस रही हैं!”

“इनफैक्ट, अन्ना जी आंदोलन ही इसलिए करते हैं ताकि कोई नया नेता पैदा हो सके! आप भी मौके का फायदा उठाइए और आंदोलन में शामिल हो जाइए! फिर आप और हम दोनों मिलकर मोदी जी से टक्कर लेंगे!”-केजरीवाल ने अपना प्लान बताया।

केजरीवाल की बातों में बहन जी को आशा की किरण दिखाई दी। पूरे बारह घंटे बाद उनके चेहरे पर थोड़ी ख़ुशी नज़र आई। “आप ठीक कह रहे हैं केजरीवाल जी! लेकिन प्लीज एक फेवर और कीजिए, आप मुझे ‘आंदोलन’ हाइजैक करने की कला सिखा दीजिए!” -मायावती ने हाथ जोड़ते हुए कहा। “आप दिल्ली आइए तो सही! मैं एक बंदा भेज दूंगा यहाँ से! वो सब कुछ सिखा देगा आपको!” -कहते हुए केजरीवाल ने फोन रख दिया।



ऐसी अन्य ख़बरें