Friday, 22nd September, 2017

चलते चलते

रात भर घर के बाहर खड़े रहे केजरीवाल, डोरबेल का बटन नहीं दबाया

04, Apr 2017 By बगुला भगत

नयी दिल्ली. कहते हैं कि दूध का जला छाछ भी फूंक-फूंककर पीता है। कुछ ऐसा ही आजकल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ हो रहा है। उनके मन में ईवीएम मशीन के बटन का ख़ौफ़ इस क़दर समा गया है कि कल उन्होंने अपने घर की डोरबेल का बटन भी नहीं दबाया और सारी रात घर के बाहर खड़े रहे।

Kejriwal 10
टेंशन में डोरबेल को देखते केजरीवाल जी

आस-पड़ोस के लोगों ने उन्हें बहुत समझाया कि “सर! दबा दीजिये, कुछ नहीं होगा।” लेकिन वो नहीं माने और यही कहते रहे कि “तुम्हें नहीं पता! मैं बटन यहां दबाऊंगा और बेल बीजेपी ऑफ़िस की बजेगी।” तभी एक युवक बोला “देखिये, मैं दबाता हूं कुछ नहीं होगा…” और बटन दबाने के लिये आगे बढ़ा। लेकिन केजरीवाल ने उसे पकड़ लिया और बोले- “तुम सब मिले हुए हो!” और उसे धक्के मारकर भगा दिया।

उधर, जब आधी रात तक वो घर नहीं पहुंचे तो सुनीता जी ने उन्हें फ़ोन किया लेकिन उन्होंने मोबाइल का बटन भी नहीं दबाया और घंटी बजती रही। थोड़ी देर बाद उन्हें शोर की आवाज़ सुनाई दी तो वो छत पर पहुंचीं और देखा कि घर के बाहर भीड़ लगी हुई है। वो देखती क्या हैं कि केजरीवाल जी घर के बाहर खड़े हुए हैं और लोग उन्हें बटन दबाने के लिये मना रहे हैं लेकिन वो मान नहीं रहे और उन सबको भगा रहे हैं।

तब सुनीता जी ने बराबर वाली बिल्डिंग के गार्ड को आवाज़ देकर बुलाया और उससे रिक्वेस्ट की कि “भैय्या, साब को थोड़ा हाथ लगा दो प्लीज़!” गार्ड आया और उसने सहारा देकर केजरीवाल को उचकाया और दीवार कुदाई। तब कहीं जाकर वो घर के अंदर पहुंचे और पहुंचते ही सो गये। अब सुनीता जी को ये टेंशन हो रही है कि ये रोज़ ऐसे ही कूदकर आयेंगे क्या?



ऐसी अन्य ख़बरें