Saturday, 19th August, 2017

चलते चलते

देश के 10% समझदार लोगों की लिस्ट जारी करेंगे जस्टिस काटजू, नाम जुड़वाने के लिए मारामारी मची

22, Sep 2016 By Ritesh Sinha

नयी दिल्ली. कुछ समय पहले जस्टिस काटजू ने कहा था कि भारत की 90% जनता मूर्ख है, तभी से ये मांग की जा रही थी कि जस्टिस काटजू को उन 10% लोगों के नाम देश को बताना चाहिए जो वाकई में समझदार हैं। आखिरकार जस्टिस काटजू मान गए हैं और उन्होंने उन 10% लोगों के नाम उजागर करने का फैसला किया है, जो उनकी नज़र में ‘समझदार’ हैं। उन्होंने आज अपनी फ़ेसबुक पोस्ट पर लिखा है कि “आज से ठीक दस दिन बाद मैं देश को उन लोगों के नाम बताऊंगा जो समझदार हैं। अपना नाम लिस्ट में चेक करना मत भूलना!”

Jobless
जस्टिस काटजू के घर की ओर जाती भीड़

जब हमारे रिपोर्टर ने उनसे पूछा कि “क्या आपका ख़ुद का नाम इस लिस्ट में है?” तो वो भड़क गए और हमारे रिपोर्टर से उसका नाम पूछने लगे। उसने बताया- “जी, रितेश सिन्हा”, नाम सुनते ही वो अपने सामने रखे काग़ज़ में कुछ नोट करने लगे। यह देखकर हमारे रिपोर्टर के पसीने छूट गये।

उधर, इस लिस्ट की खबर फैलते ही पूरे देश में हड़कंप मच गया। लिस्ट में अपना नाम जुडवाने के लिए लोग उनके घर के बाहर जमा होना शुरू हो गए। कुछ लोगों ने बड़े-बड़े बैग ले रखे हैं और वे किसी तरह जस्टिस काटजू से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि जस्टिस काटजू पैसा लेकर मूर्खों को समझदार बनाएँगे कि नहीं, फिर भी लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही है।

इसी बीच खबर आई है कि कुछ लोगों ने जस्टिस काटजू के नौकर को किडनैप कर लिया है और अपना नाम समझदार वाली लिस्ट में डलवाने के लिये उन पर दबाव बना रहे हैं। कुछ बड़े अमीर लोगों ने जस्टिस काटजू को ब्लैंक चेक थमा दिये हैं। वहीं, अमर सिंह दो बड़े सूटकेस लेकर जस्टिस काटजू के घर के बाहर टहलते देखे गए हैं। जब उनसे पूछा गया कि, “आप यूपी छोड़कर यहाँ क्यूं चले आये? तो उन्होंने जवाब दिया कि, “चुनाव में अभी बहुत दिन बचे हैं। तब तक यहाँ कुछ लोगों का ‘काम’ कराने आया हूं।”

अमर सिंह से थोड़ी दूरी पर खड़े एक युवक ने बताया कि, “दो साल हो गये इंजीनियरिंग कम्पलीट किये हुए, कहीं कोई जॉब नहीं मिली। अगर काटजू सर मान गये और लिस्ट में नाम लिख लिया तो शायद कोई जॉब मिल जाये।” अभी-अभी पता चला है कि कुछ लोग इस लिस्ट में आरक्षण की मांग करते हुए वहां धरने पर भी बैठ गए हैं।



ऐसी अन्य ख़बरें